spo1लंदन,  एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता भारत के पास ओलंपिक चैंपियन जर्मनी के खिलाफ एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी में शुक्रवार को 3-1 की बढ़त के साथ जीत हासिल करने का अच्छा मौका था लेकिन यह मौका भारत के हाथ से निकल गया और मैच 3-3 गोल से ड्रा रहा.

भारत मैच के 32 वें मिनट तक 3-1 से आगे था लेकिन जर्मनी ने 36 वें और फिर 57 वें मिनट पर पेनल्टी स्ट्रोक पर गोल कर भारत को सनसनीखेज जीत हासिल करने से रोक दिया, भारत के लिये वी रघुनाथ ने 12 वें ,मनदीप सिंह ने 26 वें और हरमनप्रीत सिंह ने 32 वें मिनट में गोल किया जबकि गत चैंपियन जर्मनी के लिये टॉम ग्रामबुश ने 26 वें और 36 वें मिनट में तथा जोनास गोमोल ने 57 वें मिनट में गोल किये. भारत ने मैच के पहले हाफ में दबदबा बनाया जबकि जर्मनी ने दूसरे हाफ में शानदार वापसी की.

भारत ने दूसरे हॉफ में खराब डिफेंस का प्रदर्शन किया जिसका फायदा उठाकर जर्मनी ने खुद को हार से बचा लिया. विश्व रैंकिंग में सातवें नंबर की टीम भारत ने तीसरी रैंकिंग की जर्मनी के खिलाफ मैच में शानदार शुरुआत करते हुये सातवें मिनट में बढ़त बनाकर ओलंपिक चैंपियन को चौंका दिया. ड्रैग फ्लिकर रघुनाथ ने सटीक शॉट लिया जो गोलकीपर के दांयीं तरफ से गुजरता हुआ गोल में समा गया.

भारत ने 24 वें मिनट में अपनी बढ़त 2-0 कर ली थी लेकिन यह गोल खारिज हो गया. एसवी सुनील ने सर्कल के बाहर से मिले पास को संभालते हुये गेंद को गोल में पहुंचा दिया लेकिन रेफरल से यह बात सामने आयी कि गेंद सुनील के पैर से टकरा गयी थी. सुनील का यह गोल खारिज हो गया.

इसके दो मिनट बाद जर्मनी को पेनल्टी कार्नर मिला और ग्रामबुश ने गेंद को भारतीय गोलकीपर पीआर श्रीजेश के पैरों के बीच से निकाल कर अपनी टीम को बराबरी दिला दी. भारत ने जवाबी हमला करते हुये इसी मिनट में बढ़त हासिल कर ली. सुनील ने जर्मन सर्कल में घुसते हुये मनदीप को गेंद दी और मनदीप ने मौका ताड़ते हुये 2-1 की बढ़त दिलाने वाला गोल दाग दिया.

आधे समय के तुरंत बाद भारत को पेनल्टी कार्नर मिला और इस बार हरमनप्रीत ने शानदार शॉट लगाते हुये गेंद को गोलकीपर के पास से निकाल कर बढ़त को 3-1 कर दिया लेकिन 36 वें मिनट में ग्रामबुश ने पेनल्टी कार्नर पर जर्मनी का दूसरा गोल कर स्कोर 2-3 कर दिया.

इसके बाद भारतीय खिलाडिय़ों ने अपनी बढ़त को बनाये रखने की भरपूर कोशिश की. गोलकीपर श्रीजेश ने दो शानदार बचाव भी किये लेकिन 57 वें मिनट में जर्मनी को नौवां पेनल्टी कार्नर मिला जिस पर लिया गया शॉट गोललाइन पर भारतीय डिफेंडर के शरीर से टकरा गया और नियमों के हिसाब से जर्मनी को पेनल्टी स्ट्रोक दे दिया गया.

गोमोल ने स्ट्रोक पर बराबरी का गोल दागने में कोई गलती नहीं की. भारतीय खिलाड़ी जीत का मौका गंवाने से बेहद निराश नजर आये. भारत का अगला मुकाबला शनिवार को चौथी रैंकिंग के ब्रिटेन से होगा.

Related Posts: