spo1मीरपुर,  सुपरस्टार विराट कोहली (नाबाद 56) के नाबाद अद्र्धशतक और धुआंधार बल्लेबाज युवराज सिंह (35) की तूफानी पारी तथा अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत ने श्रीलंका को एशिया कप ट्वेंटी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के मुकाबले में मंगलवार को पांच विकेट से हराकर फाइनल में स्थान बना लिया.

भारत की टूर्नामेंट में यह लगातार तीसरी जीत है और इस जीत से उसने टूर्नामेंट के फाइनल में स्थान पक्का कर लिया है. इससे पहले उसने बांग्लादेश को 45 रन से तथा चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को पांच विकेट से हराया था. श्रीलंका को टूर्नामेंट में दूसरी हार का सामना करना पड़ा और अब फाइनल की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखने के लिये उसे बुधवार को बांग्लादेश और पाकिस्तान के बीच होने वाले मैच के निर्णय पर निर्भर रहना होगा. शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में आयोजित इस मैच में श्रीलंका ने निर्धारित 20 ओवरों में नौ विकेट पर 138 रन बनाये, जिसके बाद टीम इंडिया ने इस लक्ष्य को चार गेंद शेष रहते 19.2 ओवर में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया.

विराट ने 47 गेंदों में सात चौकों की मदद से नाबाद 56 रन बनाये जबकि युवराज ने 18 गेंदों में तीन चौके और तीन छक्के उड़ाये. दोनों ने मैच में चौथे विकेट के लिये 51 रन की अद्र्धशतकीय साझेदारी भी की. विराट ने अनुभवी सुरेश रैना (25) के साथ तीसरे विकेट के लिये 54 रन की अद्र्धशतकीय साझेदारी कर जीत की नींव रख दी थी. रैना ने 26 गेंदों की अपनी संयमित पारी में दो चौके लगाये. पाकिस्तान के खिलाफ खेले गये पिछले मैच में भी अपनी टीम के सिर जीत का सेहरा सजाने का काफी श्रेय इन दोनों धुरंधरों का ही था.

उस मैच में विराट ने युवराज के साथ चौथे विकेट के लिये 68 रन की बेशकीमती साझेदारी की थी. हालांकि विराट उस मैच में अद्र्धशतक से मात्र एक रन दूर रह गये थे, जो उन्होंने इस मैच में पूरा कर लिया. 139 के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के दो विकेट 3.2 ओवर के भीतर ही गिर गये. पिछले मैच में खेलने नहीं उतरे शिखर धवन कुछ खास नहीं कर सके और एक रन के निजी स्कोर पर युवा तेज गेंदबाज नुवान कुलशेखरा का शिकार बने.

इसके बाद कुलशेखरा ने ओपनर रोहित शर्मा (15) को चामरा कापूगेदेरा के हाथों कैच कराकर पैवेलियन भेजा. रोहित ने 14 गेंदों में तीन चौके लगाये. लगातार दूसरी बार मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार जीतने वाले विराट ने रैना के साथ पारी को आगे बढ़ाया और दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 54 रन की अद्र्धशतकीय साझेदारी की. रैना को 25 के निजी स्कोर पर दासुना शनाका ने कुलशेखरा के हाथों कैच कराया. इसके बाद उतरे युवराज ने अपने अंदाज में खेलते हुये 35 रन की तूफानी पारी खेली और टीम को जीत के काफी करीब पहुंचा दिया. युवी को तिषारा परेरा ने कुलशेखरा के हाथों कैच कराकर आउट किया.

युवी के आउट होने के बाद कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने हार्दिक पांड्या को भेजा, लेकिन वह दो रन के निजी स्कोर पर हेरात का शिकार बने. इसके बाद धोनी को उतरना पड़ा और उन्होंने चार गेंदों में एक छक्का उड़ाकर नाबाद सात रन का योगदान दिया. मैच में जीत का चौका विराट ने आखिरी ओवर की दूसरी गेंद पर लगाया और अपने प्रशंसकों को खुशी मनाने का मौका दे दिया. जैसे ही विराट से चौका जड़ा, स्टेडियम में बैठे भारतीय प्रशंसक और उनके फैन खुशी से झूम उठे. कुलशेखरा ने तीन ओवर में 21 रन देकर दो विकेट अपने नाम किये जबकि परेरा, रंगना हेरात और शनाका को एक-एक विकेट मिला.