10kk9हैमिल्टन, 10 मार्च. आयरलैंड के खिलाफ पहले ही एकतरफा माने जा रहे मुकाबले का नतीजा अपेक्षा के अनुसार रहा तथा पूल बी की शीर्ष भारतीय टीम ने मंगलवार को यहां एसोसिएट देश पर अपनी धमाकेदार 8 विकेट की जीत के साथ ही विश्वकप टूर्नामेंट में लगातार नौवीं जीत दर्ज करने का रिकार्ड भी अपने नाम कर लिया.

गत चैंपियन भारत की जीत का सिलसिला वेस्टइंडीज के खिलाफ विश्वकप 2011 से लगातार चल रहा है और उसने मौजूदा टूर्नामेंट में अपने पिछले सभी मैच जीते है. विजयपथ पर सवार टीम इंडिया की यह मौजूदा टूर्नामेंट में लगातार पांचवीं और विश्वकप टूर्नामेंट में लगातार नौंवी जीत है. इसी के साथ कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी अपनी सफलताओं की फेहरिस्त में एक और कामयाबी हासिल कर ली और वह टीम को अपने नेतृत्व में विश्व कप में सर्वाधिक जीत दिलाने वाले भारत के पहले कप्तान बन गए हैं. इससे पहले लगातार आठ जीत का रिकार्ड पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली के नाम था. गांगुली ने यह रिकार्ड 2003 विश्व कप में बनाया था.

मैच में आयरलैंड ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुये 49 ओवरों में 259 रन बनाए. यह भी एक रिकार्ड है कि भारतीय टीम ने लगातार पांचवीं बार टूर्नामेंट में अपनी विपक्षी टीम को 50 ओवर से पहले ही आल आउट कर दिया. इसके बाद टीम इंडिया ने 36,5 ओवरों में दो विकेट के नुकसान पर 260 रन बनाकर जीत अपने नाम कर ली. विराट कोहली ने आखिरी क्षणों में जीत का चौका लगाकर चार रन बटोर जीत की औपचारिकता को पूरा किया.

ओपनर रोहित शर्मा ने 64 और शिखर धवन ने सर्वाधिक 100 रन की बेहतरीन शतकीय पारी खेली. धवन का वनडे में यह आठवां और टूर्नामेंट में उनका दूसरा शतक है. धवन ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 137 रन की पारी खेली थी. धवन और रोहित के आउट होने के बाद जीत की औपचारिकता को स्टार बल्लेबाज विराट कोहली और अजिंक्या रहाणे ने पूरा किया. लगभग हर अंतराल पर चौक और छक्के उड़ाते हुए विराट ने नाबाद 44 और रहाणे ने नाबाद 33 रन की उपयोगी पारियां खेली. आयरलैंड की ओर से स्टुअर्ट थाम्पसन को छह ओवरों में 45 रन पर दो विकेट हाथ लगे.

Related Posts: