spo1नागपुर,  बल्लेेबाजों के आत्मघाती प्रदर्शन से भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ ट्वेंटी-20 विश्वकप के उद्घाटन मुकाबले में मंगलवार को 47 रन की शर्मनाक शिकस्त का सामना करना पड़ा जिससे पूरा देश एकबारगी सकते में आ गया.
भारत ने न्यूजीलैंड को सात विकेट पर सात विकेट पर 126 रन के सामान्य स्कोर पर रोका था लेकिन बल्लेबाजों ने ऐसा आत्मघाती प्रदर्शन किया जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी. पूरी भारतीय टीम 18.1 ओवर में 79 रन पर ढेर हो गयी.

नागपुर की पिच से स्पिनरों को आश्चर्यजनक रूप से काफी मदद मिली और कीवी स्पिनरों ने इसका पूरा फायदा उठाते हुये स्पिन के महारथी माने जाने वाले भारतीय बल्लेबाजों की नाक में नकेल डाल दी. लेफ्ट आर्म स्पिनर मिशेल सेंटनर ने चार ओवर में मात्र 11 रन देकर चार विकेट झटके जबकि भारतीय मूल के लेग स्पिनर ईश सोढी ने चार ओवर में 18 रन देकर तीन विकेट चटका दिये.

भारत ने दस ओवर तक जाते-जाते अपने छह विकेट मात्र 42 रन पर गंवा दिये थे. कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने एकतरफा संघर्ष किया और 30 गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 30 रन बनाये लेकिन अंत में रन गति इतनी ज्यादा हो गयी थी कि मामला धोनी के हाथ से भी बाहर निकल गया. धोनी के आउट होते ही भारतीय उम्मीदें टूटी और भारतीय पारी 79 रन पर सिमट गयी.

127 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही और पहले ही ओवर से उसके विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया. ओपनर शिखर धवन को पहले ओवर की पांचवी गेंद पर नाथन मैकुलम ने पगबाधा आउट कर पॅवेलियन की राह दिखा दी. इसके बाद भारत के पांच विकेट 39 रन तक गिर गये. रोहित शर्मा पांच, अनुभवी सुरेश रैना एक और युवराज सिंह चार रन बनाकर आउट हो गये.

विराट कोहली ने जरूर कुछ कोशिश की और चौथे विकेट के लिये युवराज के साथ 14 रन तथा कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के साथ पांचवे विकेट के लिये 13 रन जोड़े लेकिन वह भी टीम की कमान ज्यादा देर नहीं संभाल सके. विराट ने 27 गेंदों में दो चौकों की मदद से 23 रन बनाये और उन्हें ईश सोढी ने विकेटकीपर ल्यूक रोंची के हाथों कैच कराया. जब विराट पांचवे विकेट के रूप में आउट होकर पॅवेलियन की ओर बढ़ रहे थे तो मैदान में बेहद शांति छा गयी और लोगों का शोर एकदम बंद हो गया.

कैप्टन कूलÓ धोनी ने अंत तक एकतरफा संघर्ष किया. उन्होंने रविचंद्रन अश्विन के साथ आठवें विकेट के लिये मैच की सबसे बड़ी 30 रन की साझेदारी की. अश्विन ने 20 गेंदों में 10 रन बनाये और उन्हें रोंची ने सोढी की गेंद पर स्टंप्स कर पॅवेलियन भेजा. धोनी नौवे विकेट के रूप में टीम के 79 के स्कोर पर आउट हुये. धोनी, विराट और अश्विन ही दहाई का आंकड़ा छू सके.

अपने गेंदबाजों के सधे हुये प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया ने अपनी मेजबानी में ट्वेंटी-20 विश्वकप के सुपर-10 ग्रुप-2 मुकाबले में मंगलवार को न्यूजीलैंड को बड़ा स्कोर करने से थामते हुये निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर 126 रन के स्कोर पर रोक दिया. अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, तेज गेंदबाज आशीष नेहरा, युवा गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, सुरेश रैना और रवींद्र जडेजा ने शानदार गेंदबाजी करते हुये एक-एक विकेट अपने नाम किया. न्यूजीलैंड के दो बल्लेबाज रॉस टेलर और ग्रांट इलियट रन आउट हुये.

नागपुर के विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कीवी टीम मैच में बड़ा स्कोर बनाने के इरादे से उतरी लेकिन मेजबान भारत और उसकी शानदार फार्म के आगे उसकी कोई खास नहीं चली. हालांकि कोरी एंडरसन (34), विकेटकीपर बल्लेबाज ल्यूक रोंची (नाबाद 19) और मिशेल सेंटनर (18) ने टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया.

एंडरसन ने 42 गेंदों की अपनी संयमित पारी में तीन चौके लगाये जबकि रोंची ने 10 गेंदों की अपनी नाबाद पारी में दो चौके और एक छक्का उड़ाया. सेंटनर ने 17 गेंदों में दो चौके लगाये. टीम को 13 अतिरिक्त रन भी मिले.

Related Posts: