ram baran yadavनेपाल में आई प्राकृतिक त्रासदी का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि देश के राष्ट्रपति राम बरन यादव को भी शनिवार रात भर टेंट में रहना पड़ा. भूकंप की वजह से उनके आधिकारिक निवास में दरारें पड़ गई थीं. राष्ट्रपति भवन के अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति के अलावा उनके सुरक्षा गार्ड भी टेंट में रहे.

इस बात की आशंका थी कि बाद में दोबारा से झटके आने पर डेढ़ सौ साल पुराना राष्ट्रपति निवास गिर सकता है. इस वजह से एहतियात बरतते हुए राष्ट्रपति निवास से बाहर रहना ही उचित समझा गया. रिपोर्ट है कि भूकंप की वजह से नेपाल के पीएम के आवास का मुख्य एंट्रेंस भी टूट गया है. हालांकि, हादसे के वक्त पीएम देश के बाहर थे.

Related Posts:

सरकार को अस्थिर करने की कोशिश में भाजपा : दिग्गी
ओबामा से मुलाकात ने मुझे गर्व से भर दिया
अग्निपथ के लिए मैदान तैयार
ईष्र्यालु देश कर रहे हैं भारत को नुकसान पहुंचाने की कोशिश
फैमिली डिप्लोमेसी की मेज पर मोदी - नवाज़ ने की द्विपक्षीय बातचीत
राजधानी के बस स्टैंड में शराब दुकान, छात्राओं के विरोध में महापौर भी हुए शामिल