एनआईए ने सलाहुद्दीन समेत 12 के खिलाफ दायर की चार्जशीट

श्रीनगर,

कश्मीर घाटी में हिंसा और आतंकी गतिविधियों के लिए कथित रूप से फंडिंग किए जाने के मामले में नैशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दायर की है.

इस चार्जशीट में टेरर फंडिग के आरोप में 26/11 हमलों के मास्टरमाइंड और लश्कर ए तैयबा के सरगना हाफिज सईद और हिज्बुल मुजाहिदीन के प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन समेत 12 लोगों के नाम शामिल हैं.

एनआईए ने कोर्ट के समक्ष 1,279 पन्नों की चार्जशीट दायर की है और अपनी जांच जारी रखने की अनुमति मांगी. इस मामले में गिरफ्तार किए गए 10 लोगों की न्यायिक हिरासत गुरुवार को समाप्त हो गई है. एनआईए के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने जांच के दौरान अहम सामग्री और तकनीकी सबूत एकत्र किए. उन्होंने कहा कि 60 स्थानों पर छापे मारे गए और 950 दस्तावेज जब्त किए गए. मामले में 300 गवाह हैं.

26/11 हमले में मौत के मुंह से बचे मोशे से मिले पीएम नेतन्याहू

मुंबई. साल 2008 में मुंबई आतंकवादी हमले के चश्मदीद मोशे होल्ट्सबर्ग करीब नौ साल बाद अपने घर मुंबई लौट आए हैं. मोशे मंगलवार को इजरायल से मुंबई पहुंचे. गुरुवार को इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने एक कार्यक्रम के दौरान मोशे से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने मोशे को बेहतर भविष्य की शुभकामनाएं भी दीं.

मुंबई में नरीमन हाउस में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान बेंजामिन नेतन्याहू ने बहादुर लडक़े मोशे से मुलाकात की. इस दौरान मोशे इजरायली पीएम से मिलकर बेहद ही खुश दिखे. बता दें कि मोशे अपने दादा रब्बी होल्ट्सबर्ग नाचमन के साथ मुंबई आए हैं.

मुंबई पहुंचने पर नाचमन ने कहा था कि यह उनके लिए बहुत खास दिन है. उन्होंने कहा कि ईश्वर का धन्यवाद कि मोशे दोबारा लौट सका. मुंबई अब काफी सेफ है. गौरतलब है कि मुंबई में आतंकी हमले में मोशे ने अपने माता-पिता को खो दिया था.

Related Posts: