नव भारत न्यूज भोपाल,

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने सरकार को सलाह देते हुए कहा है कि सरकार को टैक्स उतना ही वसूला चाहिये ,कि जिससे ग्राहक को किसी तरह की कोई पीड़ा न हो. उन्होंने कहा कि पिछले दिनों समाचार में मैंने पड़ा है कि एक ही उत्पाद पर दो-दो बार जीएसटी लगाया गया.

सह सरकार्यवाही होसबोले आज यहां स्थानीय समन्वय भवन में ग्राहक पंचायत के चौथे प्रादेशिक अधिवेशन के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने चाणक्य नीति के कुछ उदाहरण भी दिये।

उदाहरण में उन्होंने कहा कि चाणक्य भी कहते थे कि जैसे मधुमक्खी फूल से मधु लेती है और फूल को पता नहीं चलता, वैसे ही ग्राहकों से सरकार को भी टैक्स लेना चाहिए. जिससे किसी भी ग्राहक को पीड़ा न रहे.

व्यापार भी धर्म सम्मत होना चाहिये

सह सरकार्यवाह होसबोले ने आगे कहा कि व्यापार भी धर्म सम्मत होना चाहिए.क्योंकि व्यापारी जब माल बेचता है तो मुनाफा कमाना चाहता है, लेकिन वही व्यापारी जब ग्राहक बनकर सामान खरीदने जाता है तो वह कम दामों में गुणवत्ता पूर्ण माल चाहता है.

Related Posts: