बरामद होने के बाद बच्ची अधिकारी की गोद में.

आईजी बोले- आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

नवभारत न्यूज भोपाल,

मंडीदीप के सतलापुर से अपह्त की गई तीन वर्षीय मासूम को पुलिस ने टॉप सर्च अभियान चलाकर महज 4 घंटे के भीतर सकुशल बरामद कर लिया. बच्ची को परिजनों को सौंप दिया गया है, वहीं पुलिस अब बदमाशों की तलाश में जुट गई है. पुलिस का कहना है कि तेजी से बदमाशों की तलाश की जा रही है.

आईजी भोपाल संभाग जयदीप प्रसाद ने बताया कि देर रात्रि होशंगाबाद आईजी ने फोन पर उन्हें बताया था कि थाना सतलापुर से तीन साल की मासूम एंजिल का अपहरण कर लिया गया है, तथा बदमाश उसे राजस्थान अथवा गुना की तरफ लेकर जाने वाले हैं.

सूचना मिलते ही आईजी भोपाल ने मासूम के फोटो व्हाट्सएप पर प्राप्त कर सभी थाना प्रभारियों को सोशल मीडिया पर भेजे तथा प्रत्येक थाने पर चैकिंग प्वाइंट लगाने के निर्देश दिए.

इसी बीच थाना बैरसिया अंतर्गत 108 के वाहन चालक हिम्मत सिंह ने एक मासूम को सड़क किनारे रोते हुए देखा, तत्काल मासूम को थाने लाया गया और पड़ताल करने पर मासूम की पहचान एंजिल पिता अनिल झेंगरे हुई.

इसके बाद सूचना देकर मासूम के परिजनों को बुलाया गया और बच्ची सौंप दी गई. आरोपियों की धरपकड़ के लिए चार टीमों का गठन किया है. गठित टीमें मंडीदीप, सतलापुर, नूरगंज तथा औबेदुल्लागंज थाना प्रभारियों के नेतृत्व में अलग-अलग बिन्दुओं पर जांच में जुटी हैं.

रविवार को पुलिस ने भव्य सिटी के मुख्य द्वार पर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज के आधार पर कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है.

उधर एसडीओपी एसके मरावी और सतलापुर थाना प्रभारी पियुस चाल्र्स ने रविवार दोपहर पीडि़त परिवार के घर पहुंचकर अगवा की गई बच्ची एंजिल और उसके माता-पिता से बातचीत की.

पुलिस ने माना- चैकिंग देखकर छोड़ गए मासूम को पुलिस को सामने आया है कि जब बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी, तभी दो युवकों ने उसे प्रलोभन दिया और अपने साथ जबरदस्ती बाइक पर बैठा कर अपहरण की नीयत से ले जाने लगे.

पुलिस को यह भी सामने आया है कि चैकिंग प्वाइंट देकर बदमाशों ने उसे सड़क किनारे छोड़ दिया और वहां से भाग निकले. पुलिस का कहना है कि सभी सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं, जल्द ही बदमाश पुलिस गिरफ्त में होंगे.

इनका कहना है:

पुलिस को समय रहते अगर सूचना नहीं मिलती तो शायद अपहरणकर्ता मासूम को ले जाने में सफल हो पाते. पुलिस की सक्रियता से बच्ची सकुशल बरामद हो पाई है.
जयदीप प्रसाद , आईजी, भोपाल संभाग

Related Posts: