delhi1नई दिल्ली,  शकूर बस्ती से 1200 झुग्गियां हटाने के बाद अभी भी दिल्ली में रेलवे की जमीन पर 45 हजार से अधिक झुग्गियां अवैध रूप से काबिज हैं.
इनमें तकरीबन 22 हजार झुग्गियां तो ऐसी हैं जोकि रेलवे ट्रैक के बेहद करीब हैं. इससे इन ट्रैक्स से शताब्दी और राजधानी सहित जो भी ट्रेनें गुजरती हैं, उसकी स्पीड धीमी करनी पड़ती है. इससे ट्रेन ट्रैफिक के स्मूद ऑपरेशन पर उल्टा असर पड़ता है.

यह जानकारी देते हुए रेलवे के दिल्ली डिविजन के एक अफसर ने बताया कि जब ट्रेन की स्पीड कम होती है तो उस वक्त कई बार रेलगाडयि़ों में स्नैचिंग और अन्य अपराध होने का डर लगा रहता है. इस तरह की कई वारदातें हुई भी हैं. अधिकारी ने बताया कि शकूरबस्ती की ये झुग्गियां हटाने के बाद अभी भी रेलवे की जमीन पर 45 हजार 493 झुग्गियों का अवैध कब्जा है. कुल मिलाकर रेलवे की करीब 70 किलोमीटर जमीन पर झुग्गियों का कब्जा है. इससे रेलवे ट्रैकों पर गंदगी तो होती ही है, साथ ही ट्रेनों को कई जगह स्लो स्पीड से चलाना पड़ता है.

जिन जगहों पर सबसे अधिक झुग्गियां बसी हैं उनमें अब शकूरबस्ती के बाद दयाबस्ती, मायापुरी, आरपी बाग के पास कबीर नगर, जल विहार, गृह कल्याण समिति, तिलक ब्रिज, पुराना सीलमपुर और शाहदरा इलाके शामिल हैं. इन इलाकों में ही करीब 33 हजार झुग्गियां बसी हुई हैं जोकि रेलों की स्पीड पर ब्रेक लगा रही हैं.

इन्हीं में वे 22 हजार झुग्गियां भी शामिल हैं जोकि रेलवे ट्रैक के संवेदनशील समझे जाने वाले दोनों साइड के 15-15 मीटर जमीन में बसी हुई हैं.

Related Posts: