spo2गुवाहाटी,  भारत ने एथलेटिक्स, निशानेबाजी और टेनिस में ‘गोल्डन स्वीपÓ करते हुये दक्षिण एशियाई खेलों के इतिहास में अब तक का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर डाला. भारत ने इसके साथ ही सैग खेलों में 1000 स्वर्ण पदकों का आंकड़ा भी पार कर लिया. भारत ने 12 वें दक्षिण एशियाई खेलों में एथलेटिक्स मुकाबलों में आज 11 स्वर्ण पदक जीत लिये.

भारत ने इसके अलावा निशानेबाजी में सभी पांच स्वर्ण और टेनिस में भी सभी पांच स्वर्ण और पांचों रजत पदकों पर कब्जा कर लिया. भारतीय महिला हॉकी टीम ने भी स्वर्ण पदक जीत लिया है. भारत के इन खेलों में 140 स्वर्ण, 78 रजत और 20 कांस्य सहित कुल 238 पदक हो गये हैं. भारत ने 2006 में कोलंबो खेलों में 118 स्वर्ण, 59 रजत और 37 कांस्य पदक जीतने के अपने पिछले सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को काफी पीछे छोड़ दिया. श्रीलंका 25 स्वर्ण सहित 151 पदकों के साथ दूसरे और पाकिस्तान सात स्वर्ण सहित 72 पदकों के साथ तीसरे स्थान पर है.

भारत ने 11 स्वर्ण जीतने के अलावा सात रजत और एक कांस्य पदक भी जीता. अजय कुमार (1500 मी), चित्रा पी यू (1500 मी), रंजीत महेश्वरी (तिहरी कूद), सुमन देवी (भाला फेंक महिला), ओमप्रकाश सिंह ( गोला फेंक पुरुष), जोना मुर्मु ( 400 मी बाधा दौड़ महिला),धरुन ए (400 मी बाधा दौड़ पुरुष), एल सूर्या (10000 मी महिला), श्रावणी नंदा (200 मी महिला) और चार गुणा 400 मी रिले में पुरुषों तथा महिलाओं की टीमों ने स्वर्ण पदक जीते.

भारत ने आठ स्वर्ण जीतने के अलावा छह रजत और एक कांस्य पदक भी जीता. अजय कुमार (1500 मी), चित्रा पी यू (1500 मी) , रंजीत महेश्वरी (तिहरी कूद), सुमन देवी (भाला फेंक महिला), ओमप्रकाश सिंह ( गोला फेंक पुरुष), जोना मुर्मु ( 400 मी बाधा दौड़ महिला), धरुन ए (400 मी बाधा दौड़ पुरुष) और एल सूर्या (10000 मी महिला) ने स्वर्ण जीते.

Related Posts: