bus1नई दिल्ली,  मेक इन इंडिया अभियान को तेजी से सफल बनाने के मकसद से हैदराबाद में तेलंगना सरकार के साथ षहर में इसके नए उत्पादन संयंत्र लगाने का एक अहम् सहमति करार किया है। तेलंगाना सरकार के प्रौद्योगिकी इलैक्ट्रॉनिक्स एवं संचार (आईटीई एवं सी) विभाग और ”डाटाविंड इनोवेषंस प्राइवेट लिमिटेडÓ के बीच इस सहमति करार पर ओंटारियो (कनाडा) की प्रीमियर सुश्री कैथलीन वाइन की मौजूदगी में हस्ताक्षर किए गए। ताज कृश्णा में एक प्लिनरी सेषन के दौरान इस अवसर पर श्री जुपली कृश्णा राव, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री, तेलंगाना सरकार भी मौजूद थे। इस करार से दोनों पक्षों को आपसी सहयोग और तालमेल के साथ काम करने का अवसर मिलेगा और तेलंगाना राज्य में मोबाइल निर्माण की व्यवस्था विकसित की जाएगी। नया संयंत्र 90 दिनों के अंदर उत्पादन शुरू करेगा। परिचालन के पहले चरण में राज्य में 500 रोजगार पैदा होंगे।

करार पर हस्ताक्षर करते हुए जयेश रंजन, आईटी सचिव, तेलंगाना ने कहा, ”तेलंगाना को राज्य में निवेष आने की बहुत खुषी है। हमें इस बात की अधिक खुषी है कि अरबों लोगों को डिजिटल युग में लाने वाली कम्पनी ने हैदराबाद में उत्पादन केंद्र खोलने का निर्णय लिया है। इससे राज्य का औद्योगिक परिदृष्य बेहतर होगा और रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

डाटाविंड के सीईओ सुनीत सिंह तूली, ने कहा, हैदराबाद का उत्पादन संयंत्र भारत में अमृतसर के बाद डाटाविंड का दूसरा संयंत्र है। इसकी स्थापना प्रधानमंत्री मोदी के मेक इन इंडिया अभियान के तहत की गई है। इसमें सालाना 20 लाख टैबलेट और स्मार्टफोन बनाने की क्षमता होगी और इससे देष में कम कीमत के डिवाइस की बढ़ती मांग पूरी होगी।

सूचना तकनीकी, इलैक्ट्रॉनिक्स एवं संचार मंत्री टी रामा राव, ने कहा, ”इसे हमारे सरकार की नीतियों के सही होने पर बड़ी मुहर लगी है।

Related Posts: