bpl3भोपाल,  गृृह एवं जेल मंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि डायल 100 योजना के स्टाफ को बेहतर ढंग से प्रशिक्षित करें. आधुनिक संचार तकनीकी से डायल 100 योजना प्रदेश पुलिस की क्षमता को बढ़ाने के साथ आम आदमी को अपने पास पुलिस सुरक्षा का अहसास करवायेगी और अपराधों पर कारगर नियंत्रण करेगी.
योजना सफल हो इसके लिए जरुरी है कि प्रशिक्षण पर ध्यान दिया जाये. मंत्री गौर आज डायल 100 योजना की तैयारियों का जायजा ले रहे थे. योजना एक नवम्बर से शुरू होगी.

गृहमंत्री गौर ने योजना में पुलिस को दिये जा रहे वाहनों का भी अवलोकन किया. इन वाहन में संचार उपकरण, केमरा, स्क्रीन, जीपीएस, एमडीटी सहित रास्ता दुरस्त के उपकरण और फस्र्र्ट एड मेडीकल किट सहित दो दर्जन से अधिक उपकरण लगाये गये है. उन्होंने बताया कि थाना पुलिस बल का एक सहायक उप निरीक्षक अथवा हवलदार और एक आरक्षक वाहन चालक के साथ एफआरव्ही, फस्र्ट रिस्पान्स व्हीकल में मौजूद रहेगा.

इसको एक निर्धारित क्षेत्र आवंटित होगा और स्टेट सेन्टर की जद में रहेगा. निर्देश मिलते ही वाहन तुरंत स्थल पर पहुँचेगा. इसमें विशेष प्रकार का सायरन लगाया गया है.

Related Posts: