वडोदरा,

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 2654 करोड़ रूपये के बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले में वडोदरा आधारित बिजली उपकरण निर्माता कंपनी डायमंड पावर इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के प्रोमोटर एस एन भटनागर और उनके दो पुत्रों प्रबंध निदेशक अमित भटनागर और संयुक्त प्रबंध निदेशक सुमित भटनागर की 1122 करोड़ रूपये की संपत्ति कुर्क की है।

ईडी के एक अधिकारी ने आज बताया कि कुर्क की गयी संपत्तियों में तीनों के बंगले के अलावा कंपनी तथा इसकी विभिन्न सहयोगी कंपनियों के संयंत्र, मशीन, भूमि, फ्लैट आदि शामिल हैं। इनमें से अधिकतर वडोदरा तथा इसके आसपास हैं। इनमें मेफेयर्स लीजर्स लिमिटेड का एक निर्माणाधीन होटल और भुज स्थित तीन विंड मिल भी शामिल हैं।

ज्ञातव्य है कि 11 बैंकों तथा आठ वित्तीय कंपनियों से धोखाधड़ी कर ऋण लेने के इस मामले में सीबीआई ने पांच अप्रैल को यहां छापेमारी की थी। सीबीआई की ओर से दर्ज मामले के आधार पर ईडी ने भी अगले दिन छापेमारी की थी और धनशोधन निवारण कानून (पीएमएलए) के तहत एक मामला दर्ज किया था। बाद में आयकर विभाग ने भी छापेमारी कर नकदी, गहने, महंगी कारे और कई दस्तावेज जब्त किये थे।

तीनों को गत 17 अप्रैल को उदयपुर के एक होटल से सीबीआई और गुजरात पुलिस की आतंकवाद निरोधक दस्ते ने संयुक्त कार्रवाई कर पकड़ा था। फिलहाल वे 27 अप्रैल तक सीबीआई की हिरासत में हैं।