bpl2भोपाल,   इम्तेहान में फैल होने से दुखी दिल्ली पब्लिक स्कूल के 11वी के छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना मिसरोद थाना इलाके की रेड स्कॉयर कॉलोनी की है, जहां मंगलवार सुबह मृतक छात्र का शव घर के बाहर स्थित पार्क में झूले पर लटका हुआ मिला.

आत्महत्या का कारण स्पष्ट होने के कारण मृतक का पोस्टमार्टम नहीं कराया गया है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार होशंगाबाद रोड स्थित डीपीएस की 11वीं कक्षा में पढऩे वाला 16 वर्षीय मृतक आदित्य सिहं रेड स्क्वॉयर कॉलोनी में रहता था. उसके पिता महेन्द्र सिंह वेटेरनरी डॉक्टर है. कुछ दिन पूर्व परीक्षा का रिजल्ट घोषित हुआ था. मृतक मेथ्स और केमेस्ट्री में फैल हो गया था. तभी से वह बहुत दुखी था.

बेटे को टेंशन में देख अपने साथ सुलाना चाहते थे. पिता- बीती रात भी बेटे को दुखी देख देर रात तक उसके कमरे में रहे और उसे समझाते रहे. रात दो बजे वह अपने बेटे के कहने पर अपने कमरे में चले गए. जाते-जाते उन्होंने अपने बेटे को उनके कमरे में साथ सोने के लिए भी कहा. लेकिन आदित्य ने उन्हे सब ठीक है कहकर अपने कमरे से रवाना कर दिया.

फिसलपट्टी झूले पर लटका हुआ मिला आदित्य – – मंगलवार सुबह साढ़े 5 बजे पिता सोकर उठकर आदित्य के कमरे में गए. बिस्तर पर पड़ा ब्लेंकेट हटाने पर उन्हे तखिए नजर आए. घर में काफी आवाजे देने के बाद वह आदित्य को ढूंडने कॉलोनी में निकल गए. लेकिन घर के सामने बने कॉलोनी के पार्क में जैसे ही वह पहुंचे उनके पैरों से जमीन खिसक गई. उनका बेटा आदित्य फिसलपट्टी वाले झूले पर फांसी के फंदे पर लटका हुआ था. आनन-फानन में महेन्द्र ने उसे नीचे उतारा लेकिन तब तक छात्र की मृत्यु हो चुकी थी.

बिना पीएम के ही हुआ अंतिम संस्कार
सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों के निवेदन पर बिना पीएम कराए शव को परिजनों को सौप दिया. पुलिस के मुताबिक बयानों में स्पष्ट हो गया है कि मृतक ने आत्महत्या फैल होने से दुखी होकर की थी.

 

Related Posts:

पूर्व छात्रों का मिलन समारोह दिसम्बर में
शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद मध्यप्रदेश प्रवास पर
सूरज घिरा बादलों में दर्शक घिरे मायूसी में
व्यापमं घोटाला मामला: कांगे्रस के वरिष्ठ नेता पहुंचे जिला अदालत
सिंहस्थ भंडारा में प्रसाद ग्रहण करने पहुंची श्रीमती माया सिंह
काटजू अस्पताल में प्रसूता की मौत पर डॉक्टर्स तलब