sensexमुंबई,  चीन के व्यापार में सुधार के आँकड़े आने से निवेशकों की मजबूत धारणा तथा वैश्विक बाजारों की तेजी के दम पर आज घरेलू शेयर बाजार कल की गिरावट से उबरने में कामयाब रहा और सेंसेक्स 29 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार निकल गया।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 118.92 अंक यानी 0.41 फीसदी उछलकर डेढ़ साल से अधिक के उच्चतम स्तर 29,045.28 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 34.55 अंक अर्थात् 0.39 प्रतिशत चढ़कर 8,952.50 अंक पर रहा।

छोटी एवं मँझौली कंपनियों में भी आज तेजी रही। बीएसई का मिडकैप 0.15 फीसदी बढ़कर 13,479.37 अंक पर तथा स्मॉलकैप 0.83 प्रतिशत मजबूत होकर 12,922.41 अंक पर रहा।

कारोबार के दौरान चुनिंदा समूहों को छोड़ शेष सभी समूहों में तेजी रही। आईटी, टेक, यूटिलिटीज और बैंकिंग गिरावट में रहे। आईटी कंपनी टीसीएस को सर्वाधिक नुकसान हुआ। इंफोसिस और विप्रो भी शीर्ष चार नुकसान उठाने वाली कंपनियों में रहीं।

इस दौरान वैश्विक बाजारों में भी तेजी का रुख रहा। एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग 0.75 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.09 प्रतिशत तथा चीन का शंघाई कंपोजिट 0.15 प्रतिशत बढ़त में रहा। हालाँकि, जापान के निक्की में 0.32 प्रतिशत की गिरावट आयी। यूरोपीय बाजार आठ महीने के उच्चतम स्तर के पास बने रहे। ब्रिटेन का एफटीएसई शुरुआती कारोबार में 0.52 प्रतिशत हरे निशान में रहा।

बीएसई में कुल 2,953 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,608 के शेयर बढ़त में रहे तथा 1,151 कंपनियों काे नुकसान उठाना पड़ा जबकि 194 के शेयर अपरिवर्तित रहे।

Related Posts: