28a14भोपाल,28 जुलाई. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री कौशल उन्नयन एवं प्रशिक्षण योजना में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए विशेष प्रकोष्ठ स्थापित करने के निर्देश दिए हैं.

इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षित अनुसूचित जाति वर्ग के युवाओं को विभिन्न संस्थानों में नियुक्ति-पत्र प्रदान करने के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान ने भारत रत्न पूर्व राष्ट्र्रपति डॉक्टर ए.पी.जे.अब्दुल कलाम को भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की और इसे डॉक्टर कलाम की स्मृति को समर्पित किया.

सच्चे सपूत थे
मुख्यमंत्री ने डॉक्टर कलाम को सच्चे अर्थो में भारत का रत्न बताते हुए कहा कि वे भारत के सच्चे सपूत थे. आने वाली पीढिय़ों को मुश्किल से विश्वास होगा कि उनके जैसा व्यक्तित्व धरती पर चलता-फिरता था. वे व्यक्ति नहीं एक सम्पूर्ण संस्था थे. उनकी प्रेरणादायी जीवनी स्कूल पाठ्यक्रम में पढ़ाई जायेगी. मुख्यमंत्री ने डॉ. कलाम के ऊर्जावान वचनों का उल्लेख करते हुए कहा कि वे कहते थे- हमेशा लगन से काम करो. बाधाएँ क्षणिक हैं. संकल्प के आगे टिक नहीं सकती.

Related Posts: