shiv-pandeyलंदन. भारतीय मूल के एक डॉक्टर को एक प्रैक्टिशनर और चिकित्सा शिक्षक के तौर पर समुदाय में योगदान देने के लिए प्रमुख ब्रिटिश विश्वविद्यालयों में से एक ने मानद फेलोशिप प्रदान की है।

यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल लंकाशाइर ने 77 वर्षीय शिव पांडे को मानद फेलोशिप प्रदान की है। यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर माइकल थॉमस ने कहा, ‘न सिर्फ अपने पेशे में बल्कि हमारे व्यापक समुदाय में, इतने ज्यादा क्षेत्रों में इतनी उपलब्धि शायद ही किसी डॉक्टर ने हासिल की है।’

Related Posts:

पाकिस्तान के नए मंत्रिमंडल में कोई बड़ा बदलाव नहीं
मेरे एक कॉल से थम जाएगा देश
शकीरा के वाका गाने को एक अरब से ज्यादा बार लोगों ने देखा
द. कैरोलिना में ट्रंप जीते, नेवादा में हिलेरी
प्रधानमंत्री मोदी ने ची मिन्ह और वियतनाम के शहीदों को दी श्रद्धांजलि
पाकिस्तान ने प्रतिशोध में निष्कासित किया है सुरजीत सिंह को