SHARAPOVAलॉस एंजेलिस,  पांच बार की ग्रैंड स्लेम चैंपियन और पूर्व नंबर-एक टेनिस खिलाड़ी रूस की मारिया शारापोवा ने स्वीकार किया है कि वह ऑस्ट्रेलियन ओपन के दौरान डोप टेस्ट में फेल हो गई थीं, जिसके बाद अंतरराष्ट्रीय टेनिस संघ ने उन्हें अस्थायी तौर पर प्रतिबंधित कर दिया है.

टेनिस जगत में सबसे अधिक कमाई करने वाली महिला खिलाड़ी शारापोवा ने कल एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान यह खुलासा किया था कि वह वर्ष 2006 से ही मेलडोनियम नामक दवा ले रही थी, लेकिन विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी ने अचानक 2016 की प्रतिबंधित दवाओं की सूची में इसे शामिल कर दिया जिससे यह स्थिति उत्पन्न हो गई है.

शारापोवा को आगे की कार्रवाई तक आईटीएफ ने तत्काल रूप से निलंबित कर दिया है. ऐसी आशंका भी जताई जा रही है रूसी खिलाड़ी पर चार साल का प्रतिबंध लग सकता है. शारापोवा ने कहा कि मेरे पारिवारिक डॉक्टर मुझे पिछले 10 सालों से मिलड्रोनेट नाम की दवा दे रहे थे. कुछ दिनों पहले मुझे अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ की तरफ से एक पत्र मिला जिसके बाद मुझे पता चला कि मैं जो दवा ले रही थी वो मेलडोनियम का दूसरा नाम है, जिसके बारे में मैं नहीं जानती थी.

उन्होंने कहा कि मैं टेस्ट में फेल हो गई और इसकी पूरी जिम्मेदारी लेती हूं. यह मेरी एक बड़ी गलती है और मैं जानती हूं कि मुझे किन हालातों का सामना करना पड़ेगा और मैं अपना करियर ऐसे खत्म नहीं करना चाहती. मुझे उम्मीद है कि मुझे फिर से खेलने का मौका मिलेगा.

28 वर्षीय टेनिस खिलाड़ी के डोप टेस्ट में फेल रहने के खुलासे के बाद आईटीएफ ने मामले पर कुछ खास प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन वैश्विक संस्था ने एक बयान में कहा कि शारापोवा पर 12 मार्च से अस्थायी रूप से प्रतिबंध लागू रहेगा.

Related Posts: