modi4मुंबई,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के बंदरगाहों के विकास के लिए एक लाख करोड़ रुपये निवेश की जरूरत बताते हुए विश्व समुदाय को इस क्षेत्र में निवेश के लिये न्यौता दिया है।

देश के पहले मैरीटाइम सम्मेलन को आज यहां संबोधित करते हुए श्री मोदी ने 7500 किलोमीटर तटीय रेखा को भविष्य का विकास इंजन बताते हुए कहा कि आगे चलकर समुद्र मार्ग से कारोबार का दबदबा होगा और अब समय आ गया है कि इसका बेहतर इस्तेमाल किया जाये। बंदरगाहों के विकास के लिये एक लाख करोड़ रूपये निवेश की जरूरत बताते हुए प्रधानमंत्री ने विश्व समुदाय को न्यौता दिया जिससे कि देश 2025 तक अपनी बंदरगाह क्षमता 140 करोड़ टन सालाना से बढाकर 300 करोड़ टन पहुंचाने में सक्षम हो सके ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दूसरे देशों से कारोबार की बढ़ती माँग को पूरा करने के लिये सरकार की पाँच नये बंदरगाह विकसित करने की योजना है जो अर्थव्यवस्था के तीव्र विकास के लिये महत्वपूर्ण होगा। श्री मोदी ने कहा कि भारतीय जहाजरानी क्षेत्र में विकास की बहुत संभावना है और एक बार विश्व समुदाय यहाँ आकर निवेश करें तो मैं आश्वस्त करना चाहता हूँ कि उनका धन सुरक्षित और संरक्षित होगा और वह संतुष्ट होंगे।

Related Posts: