tamilnaduतंजावुर,  तमिलनाडु के तंजावुर में हजारों किसानों ने केंद्र सरकार से कावेरी प्रबंधन बोर्ड के तत्काल गठन की मांग को लेकर अाज 48 घंटे के रेल रोको आंदोलन की शुरुआत की जिससे राज्य के डेल्टा, मध्य एवं दक्षिणी जिलों में रेल सेवाएं प्रभावित हुई।

संयुक्त किसान आंदोलन के बैनर तले हजारों किसानों ने उपाध्यक्ष आर सुकुमारन की अगुआई में कुम्बकोनम-तंजावुर एवं तिरुचिरापल्ली-कुम्बकोनम रेलमार्ग पर यात्री ट्रेनों को दो घंटे तक रोके रखा। आंदोलनकारियों ने रेलवे ट्रैक पर खाना पकाकर भी विरोध-प्रदर्शन किया। पुलिस ने हजार से अधिक आंदोलनरत किसानों को हिरासत में ले लिया है।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रदेश सचिव आर मुथरासन ने तिरुवरूर के कोडिकल्पालायम में सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ रेल रोको अभियान का नेतृत्व किया। उन्होंने रेल ट्रैक पर कब्जा जमा लिया तथा केंद्र की भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार पर तमिलनाडु के किसानों के साथ छल करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी भी की।

तिरुवरुर में पुलिस ने प्रदर्शन द्रमुक के जिला सचिव पूंडी के कलाईवानन के नेतृत्व में प्रदर्शन कर रहे 500 पार्टी कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। वहीं तिरुचिरापल्ली में द्रमुक मंत्री के एन नेहरु की अगुवाई में एक हजार कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने अन्य जगहों पर भी रेल रोको आंदोलन कर रहे कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। अलग अलग जगहों पर हुए प्रदर्शन में द्रमुक, भाकपा, माकपा, पीपुल्स वेलफेयर फ्रंट, किसान तथा अन्य तमिल संगठनों ने हिस्सा लिया।

Related Posts:

सलमान की फिल्म पर पाकिस्तान में बैन
जलवायु सम्मेलन में शामिल होकर मोदी पेरिस से स्वेदश लौटे
मांगें हुईं पूरी, अब खत्म करो आन्दोलन, जाट संघर्ष समिति ने आन्दोलनकारियों से कहा
माल्या को मोदी ने दो दिन में दूसरी बार दिखाई आंख
जीएसटी की मानक दर 18 फीसदी से अधिक मंजूर नहीं : चिदम्बरम
गंगा तट पर बसे 25 जिलों में कल मनाया जायेगा गंगा स्वच्छता दिवस