Supreme-Courtनई दिल्ली,  सुप्रीम कोर्ट ने आज अखिल भारतीय प्री-मेडिकल टेस्ट के लिए एक ही प्रवेश परीक्षा नेशनल एलिजिबलिटी कम एंट्रेस टेस्ट (एनईईटी-नीट) संचालित करने के लिए सीबीएसई को निर्देश दिया.

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश अनिल आर दवे की पीठ ने कहा कि सीबाएसई की ओर से मुकर्रर तिथि यानी एक मई और 24 जुलाई को एनईईटी की परीक्षा कराने का निर्देश दिया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के वकील अतिरिक्त सोलिसिटर जनरल पिंकी आनंद तथा अन्य से कहा कि एईईटी की परीक्षा के मामले में जिस प्रकार की राहत चाहते हैं, उसके लिए आवेदन करें.

शीर्ष अदालत ने कहा कि एनईईटी को एक मई और 24 जुलाई को तय समय पर आयोजित किया जाये. अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने इससे पहले आज कोर्ट से अपने आदेश में कुछ तब्दीली करने का आग्रह किया.

अटॉर्नी जनरल ने कहा कि भारी तादाद में छात्र क्षेत्रीय भाषाओं में परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तथा वे एक मई को अंग्रेजी में परीक्षा देने में सक्षम नहीं हैं. उन्होंने इसमें कुछ तब्दीली की मांग की, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया. उल्लेखनीय है कि सीबीएसई इस वर्ष एनईईटी की परीक्षा अंग्रेजी तथा हिन्दी माध्यम में करा रहा है.

Related Posts:

रायुडू व पोलार्ड ने दिलाई मुंबई को जीत
व्हीलचेयर से मैदान तक जाना बड़ी उपलब्धि
तिरूपति मंदिर की तर्ज पर भक्त करेंगे बाबा वैद्यनाथ के दर्शन
कर्फ्यू का दायरा घाटी के कुछ शहरों और पूरे श्रीनगर जिले में बढ़ाया गया
स्वरोजगार के लिए कौशल विकास जरुरी : नायडू
मेधा को जबरन उठाया, 11 अन्य भी हिरासत में, पुलिस ने भांजी लाठियां, कई घायल