tapiमैरी (तुर्कमेनिस्तान),   दक्षिण एशिया में ऊर्जा संरक्षण की सुनिश्चितता के लिये महत्वाकांक्षी तुर्कमेनिस्तान -अफगानिस्तान-पाकिस्तान-भारत (तापी) गैस पाइपलाइन परियोजना के आज ऐतिहासिक शिलान्यास समारोह में भारत प्रमुख साक्षी रहा। समारोह में मौजूद भारत के उपराष्ट्रपति मोहम्मद हामिद अंसारी, तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रपति गुरबांगुली बेर्दीमुहामेदोव,अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने परियोजना की वेल्डिंग प्रक्रिया का बटन दबाकर दक्षिण एशियाई क्षेत्र में एक नये सहयोग का संकेत दिया।

तापी गैस पाइपलाइन के जरिये एक दिन में नौ करोड़ स्टैंडर्ड घन मीटर गैस का परिवहन किया जा सकेगा। इससे भारत और पाकिस्तान प्रत्येक को तीन करोड़ 80 लाख स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर गैस तथा शेष मात्रा अफगानिस्तान को आपूर्ति की जायेगी। 10 अरब अमेरिकी डॉलर की लागत वाली 1800 किलोमीटर लंबी इस पाइपलाइन परियोजना का निर्माण कार्य तुर्कमेनिस्तान की सरकारी कंपनी तुर्कमेंगज करेगी। इस गैस पाइप लाइन परियोजना को वर्ष 2019 तक पूरे कर लिये जाने का लक्ष्य रखा गया है।

Related Posts: