manish_tiwariनयी दिल्ली,  कांग्रेस नेता मनीष तिवारी के इस बयान के बाद कि 2012 में सेना की टुकड़ियों के ‘दिल्ली कूच’ की खबर सच थी, देश की राजनीति गरमा गयी है। भारतीय जनता पार्टी ने इस पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और रक्षा मंत्री ए के एंटनी से सफाई मांगी है जबकि कांग्रेस ने श्री तिवारी से बयान से किनारा कर लिया है।

साल 2012 में एक अंग्रेजी दैनिक में खबर छपी थी कि उस साल जनवरी में सेना की दो टुकड़ियां सरकार को सूचित किये बगैर दिल्ली की तरफ ‘कूच’ कर रही थीं। सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री तिवारी ने कल एक पुस्तक विमोचन के अवसर पर यह कहकर नया विवाद खड़ा कर दिया जब उन्होंने इसे एक पुष्ट खबर बताते हुए कहा कि वह उस समय रक्षा मंत्रालय की स्थायी समिति के सदस्य थे इसलिए इसकी सच्चाई से भली भांति वाकिफ हैं।

यह एक दुर्भाग्यपूर्ण लेकिन सच्ची घटना थी। आज उन्होंने फिर कहा कि वह अपने बयान पर कायम हैं। तत्कालीन सेना प्रमुख और अब केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने श्री तिवारी के इस बयान पर घोर आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि श्री तिवारी को आजकल कुछ काम नहीं है इसलिए वह इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं। वह इस बारे में उनकी लिखी पुस्तक पढ़ लें तो सारी बातें समझ में आ जाएंगी।

Related Posts: