नयी दिल्ली,

तीन तलाक को दंडनीय बनाने से संबन्धित विधेयक को राज्य सभा में कल पेश किये जाने की उम्मीद है। संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने आज संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि तीन तलाक से संबन्धित विधेयक राज्यसभा में कल पेश किया जा सकता है। वैसे यह विधेयक राज्यसभा की आज की कार्यसूची में शामिल है।

लोकसभा इस विधेयक को पिछले सप्ताह पारित कर चुकी है। श्री कुमार ने उम्मीद जताई कि ऊपरी सदन में भी यह विधेयक लोकसभा की तरह ही पारित हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में कांग्रेस तथा अन्य दलों से लगातार बातचीत चल रही है। सभी दलों को मुस्लिम समुदाय की महिलाओं के अधिकारों का संरक्षण करने वाले इस ऐतिहासिक विधेयक को आम सहमति से पारित कराना चाहिये।

कांग्रेस तथा कई अन्य दल इस विधेयक में कुछ संशोधन चाहते हैं और इसे प्रवर समिति के पास भेजने के पक्ष में हैं। कांग्रेस की मांग है कि तीन तलाक को संज्ञेय और गैर जमानती अपराध की श्रेणी में न रखा जाए। इसके साथ ही सजा की अवधि भी तीन साल की बजाय कम की जाए।

Related Posts: