vyapamभोपाल, 31 जुलाई. नभासं. सीबीआई ने पीएमटी परीक्षा 2012 मामले में शुक्रवार को एफआईआर दर्ज की है. इसमें व्यपामं के नियंत्रक रहे पंकज त्रिवेदी, प्रिंसिपल एनालिस्ट,नितिन महिंद्रा, सीनियर सिस्टम एनालिस्ट अजय सेन,असि. प्रोग्रामर सीके मिश्रा,पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा के ओएसडी ओपी शुक्ला,सहित 587 के विरूद्व मामला दर्ज कर लिया है. वहीं ग्वालियर सहित तीन थानों में दर्ज प्राथमिकी में आरोपी विकास सिंह की मौत की प्रारंभिक जांच का मामला भी सीबीआई ने दर्ज कर लिया है.

ओएमआर शीट में गड़बड़ी
इन पर पीएमटी परीक्षा 2012 में रोल नंबरों के आवंटन व ओएमआर शीट में हेरफेर करने के मामले में धारा 120 बी, 409, 420, 467,468,471, 201 मप्र परीक्षा अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

कौन है विकास सिंह
विकास सिंह वेटरनिरी कॉलेज महू का छात्र था. उसके विरूद्व झांसी रोड़ पुलिस थाना ग्वालियर, पुलिस स्टेशन गोपालगंज सागर व पुलिस स्टेशन गर्वा में मामले दर्ज थे. सीबीआई यह पता लगाएगी कि उसकी मौत का संबंध व्यापमं से था नहीं.
ग्वालियर, नभासं. पीएमटी महाघोटाले की जांच को लेकर सीबीआई द्वारा की जा रही जांच के दौरान एसआईटी द्वारा 58 मामलों की फाइलें सौंपी गयी थी जिसमें से सिर्फ तीन फाइलों को रखते हुये 55 फाइलें लेने से इंकार कर दिया वहीं एसआईटी ने इस मामले में अपनी तरफ से किसी भी तरह की कमी होने की बात मानने से इंकार करते हुये सीबीआई की ओर मामला कर दिया. सीबीआई के पास टीम और विवेचकों की कमी होने के कारण इन महत्वपूर्ण प्रकरणों को हाथ में लेने से बच रही है. सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर व्यापमं महाघोटाले के तहत हुये पीएमटी कांड की जांच हाथ में लेने के साथ ही सीबीआई और एसआईटी में केसों को लेकर कुछ तनातनी होना बताया गया है. पीएमटी फर्जीवाड़े की अब तक जांच कर रही एसआईटी ने इस मामले में 58 प्रकरण अभी तक जर्द किये थे.

Related Posts: