भोपाल 23 फरवरी. लोकायुक्त पुलिस ने दस हजार रुपए की रिश्वत लेते नगर निगम के वार्ड 45 के प्रभारी जेपी वर्मा को रंगे हाथों गिर तार किया है. बताया गया कि किर्लोस्कर के डीलर अक्षय द्विवेदी से रिश्वत मांगी गई थी. दरअसल यह रिश्वत वार्ड प्रभारी वर्मा ने इवेंट के लिए टेंट व विज्ञापन की अनुमति देने के लिए मांगी थी.

23as26जानकारी के मुताबिक किर्लोस्कर कंपनी के डीलर अक्षय द्विवेदी वार्ड 45 में दो दिन का एक इवेंट आयोजित करना चाहते थे. इसके लिए उन्होंने नगर निगम के वार्ड कार्यालय से वार्ड के अंतर्गत टेंट लगाने एवं विज्ञापन लगाने की अनुमति मांगी थी. बताया गया कि दो दिन के इस इंवेंट के लिए निर्धारित शुल्क 18 सौ रुपए है, लेकिन वार्ड प्रभारी जेपी वर्मा ने इनसे 10 हजार रुपए की मांग की थी. अक्षय ने इस बात शिकायत लोकायुक्त में कर दी. जिस पर लोकायुक्त ने सोमवार को कार्रवाई को अंजाम देते हुए रिश्वत लेते वार्ड प्रभारी वर्मा को रंगे हाथों पकड़ा.

Related Posts: