बड़वानी,

मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में कई दिन से दहशत का पर्याय बना एक तेंदुआ वन विभाग की गिरफ्त में आ गया. सेंधवा अनुविभागीय अधिकारी (वन) विजय गुप्ता ने बताया कि कल रात बहेडिया गांव के पास लगाए गए पिंजरे में करीब 12 साल की उम्र का नर तेंदुआ गिरफ्त में आ गया. इसे खंडवा जिले के चांदपुर वन क्षेत्र में छोड़ा जा रहा है.

श्री गुप्ता ने बताया कि पानसेमल वन परिक्षेत्र के कुछ गांवों के लोगों ने पिछले कई दिनों से क्षेत्र में एक तेंदुआ दिखने की शिकायत की थी. तेंदुए ने उनके कई जानवरों को भी मार दिया था. रविवार रात एक पालतू कुत्ते को मार दिए जाने के बाद इस क्षेत्र में तीन पिंजरे और ट्रैप कैमरे लगाए गए थे. एक पिंजरे में उस कुत्ते को भी रखा गया, तेंदुआ उसे खाने आया और पिंजरे में कैद हो गया.

क्षेत्र में इन दिनों खेतों में खड़ी गन्ने की फसल के बीच रह रहे सूअरों के चलते तेंदुए की यहां आवाजाही बढ गई थी. उन्होंने बताया कि पानसेमल वन परिक्षेत्र में तेंदुओं की संख्या में अच्छी वृद्धि हुई है, जो इको सिस्टम के लिये सकारात्मक पहलू है.