arunनयी दिल्ली,  सरकार ने देश में दालों की कमी की समस्या को दूर करने तथा इसके मूल्य को नियंत्रित करने के लिए दालों का बफर भंडार डेढ लाख टन से बढाकर आठ लाख टन करने का निर्णय लिया है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वित्त मंत्री अरूण जेटली की अध्यक्षता में मंत्रियों की कल यहां हुई उच्च स्तरीय बैठक में दालों का बफर भंडार डेढ लाख टन से बढाकर आठ लाख टन करने का निर्णय लिया गया। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि दालों की मांग और आपूर्ति के बीच अंतर की मात्रा का आयात किया जायेगा।

भारतीय खाद्य निगम से अधिक से अधिक दालों की खरीद करने को कहा गया है। देश में दालों का उत्पादन 170 लाख टन है जबकि मांग 246 लाख टन है। इसके कारण मांग और आपूर्ति के बीच 76 लाख टन का अंतर है। देश में सालाना छह से सात लाख टन दालों की मांग बढ रही है जबकि पिछले कुछ वर्षों के दौरान इसका उत्पादन कम हुआ है। सरकारी स्तर पर दालों की खरीद के लिये अधिकारियों का एक प्रतिनिधि मंडल जल्दी ही दाल उत्पादक अफ्रीकी और अन्य देशों का दौरा करेगा। उल्लेखनीय है कि बाजार में दालों का मूल्य 170 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है। सरकार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में केन्द्रीय भंडार और सफल स्टोर के माध्यम से अरहर दाल 120 रुपये प्रति किलो की दर से उपलब्ध करा रही है।

Related Posts: