कानपुर,  केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने यहां रविवार को कहा कि उनकी सरकार दालों का बम्पर स्टॉक करने जा ही है, इससे दाल के दाम नियंत्रित रहेंगे।
दलहन अनुसंधान संस्थान में आयोजित राष्ट्रीय कार्यशाला में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वर्ष 2016 को दलहन वर्ष घोषित किया गया है। प्रदेशों से दालों के उत्पादन के लिए जमीन मांगी गई थी, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने जमीन नहीं दी. सिंह ने कहा कि देश अनाज के मामले में तो आत्मनिर्भर है लेकिन दलहन, तिलहन के मामले में आत्मनिर्भर नहीं हो पाया है.

उन्होंने कहा कि दुनिया में सबसे बडा दाल उत्पादक भारत है लेकिन दाल का सबसे बडा उपभोक्ता भी भारत ही है. मानव भोजन में दलहनी फसलों की उपयोगिता को देखते हुये ही संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 2016 को ‘अंतरराष्ट्रीय दलहन वर्ष’ घोषित किया है. कृषि मंत्री यहां कानपुर के भारतीय दलहन संस्थान (आईआईपीआर) के एक कार्यक्रम में भाग लेने आये थे. कार्यक्रम में प्रदेश में दलहन की बेहतर खेती के लिये बुंदेलखंड के हमीरपुर के किसान राजेंद्र प्रसाद सविता को पहले पंडित दीन दयाल उपाध्याय अन्त्योदय पुरस्कार से सम्मानित किया.

Related Posts: