कांग्रेस के दिग्गज नेता कमलनाथ भी हुए शामिल

नरसिंहपुर,

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा यात्रा का 9 अप्रैल को धर्ममय वातावरण में समापन हो गया. यह यात्रा 300 लोगों द्वारा 30 सितंबर 2017 को नर्मदा जी की ब्रम्ह तपोस्थली बरमानघाट से यात्रा प्रारंभ की गई थी जो यात्रा 6 माह 12 दिन तक चली.

नर्मदा परिक्रमा में 218 दिन की यात्रा में दिग्विजय सिंह के द्वारा श्रद्धा, आस्था के साथ मां नर्मदा जी की पूजन-अर्चन कर यात्रा की गई.

सोमवार 9 अप्रैल को इस यात्रा के समापन अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के द्वारा सुबह से ही मां नर्मदा जी की पूजन-अर्चन विधि विधान से की गई, जो भंडारा प्रसादी की कढ़ाई, चढ़ाई जाती है वह भी दिग्गी राजा के द्वारा की गई धर्म आस्था विधि-विधान के जितने भी यात्रा में नियम हैं, सभी का पालन किया गया.

नर्मदा परिक्रमा में जो उन्होंने सुख और आनंद की अनुभूति की है वह अविस्मरणीय है. मां के आंचल में यह 6 माह 12 दिन अनेकों जन्मों को सफल बनाने वाले रहे. गुरुवर शंकराचार्य जी महाराज के आशीर्वाद के कारण ही मां नर्मदा जी की परिक्रमा करने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ.

वहीं इस मौके पर श्रीमती अमृता सिंह ने कहा कि हमें इस यात्रा के दौरान मध्य प्रदेश, गुजरात तथा राजस्थान में जगह-जगह पर सभी का स्नेह प्राप्त हुआ और इस स्नेह के हम तीनों राज्य के सभी लोगों के आभारी हैं.

इस यात्रा के दौरान जीवन की अनेकों बातों का इस यात्रा में अनुभव हुआ मां नर्मदा के आंचल में उनकी भक्ति और उनकी शक्ति कभी ज्ञान प्राप्त हुआ.

समापन पर पहुंचे अनेकों कांग्रेसी दिग्गज

दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा समापन यात्रा में अनेकों दिग्गज नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ, कांतिलाल भूरिया, मीनाक्षी नटराजन, सुरेश पचौरी, बिसाहू लाल, रामेश्वर नीखरा, अरुण यादव, रविंद्र सिंह, दीपक बाबरिया, जसवंत सिंह, संजय कपूर, दिग्विजय सिंह जी के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह तथा पुत्र जयवर्धन सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री एनपी प्रजापति, राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, सुनील जायसवाल, मैथिलीशरण तिवारी, आशुतोष राणा सहित कांग्रेस के अनेकों पूर्व विधायक, सांसद, प्रदेश तथा राष्ट्रीय पदाधिकारी के साथ-साथ नगर व जिले के जनप्रतिनिधि, पार्षदगण एवं हजारों की संख्या में संपूर्ण मध्य प्रदेश से लोग समापन यात्रा के कार्यक्रम में सम्मिलित हुए.

Related Posts: