shashtriनई दिल्ली,  भारतीय टीम के मैनेजर रवि शास्त्री ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में बुधवार से शुरु हो रहे चौथे और अंतिम टेस्ट मैच की विकेट भी वैसी ही होने की उम्मीद है जैसे कि मोहाली और नागपुर की पिच थी.

शास्त्री ने क्रिकइन्फो से दोनों टीमों के बल्लेबाजों को लतारते हुए कहा कि बल्लेबाजों ने संभलकर नहीं खेला और न ही उन्होंने पिच के अनुसार बल्लेबाजी की. उन्होंने कहा कि पिच में कोई खराबी नहीं है और मुझे उम्मीद है कि दिल्ली की पिच भी मोहाली और नागपुर जैसे ही होगी. टेस्ट क्रिकेट में भी बल्लेबाज वनडे क्रिकेट के जैसा बल्लेबाजी कर रहे है. आप को अधिक से अधिक समय तक क्रिज पर समय बिताना होगा. अमला और डु प्लेसिस जिस तरह से मैच के तीसरे दिन बल्लेबाजी कर रहे थे उससे लग रहा था कि पिच में कुछ भी नहीं है.ÓÓ शास्त्री ने कहा कि मुझे लगता है कि बल्लेबाज यदि पिच के अनुसार खेलता तो वह 80, 90 यहां तक कि सौ भी बना सकता था.

हालांकि उन्होंने यह मानने से इन्कार कर दिया कि नागपुर टेस्ट में असमान उछाल के कारण पिच को लेकर चर्चाएं होनी शुरु हो गयी. उन्होंने कहा कि नागपुर के पिच में असमान उछाल नहीं था. यह सिर्फ मैच के दूसरे और तीसरे दिन ही गेंद नीचे रहनी शुरु कर दी थी. टीम मैनजेर शास्त्री तीन दिन के अंदर ही टेस्ट मैच समाप्त होने से चिंतित नहीं है. उनका कहना है कि यह सिर्फ भारत में ही नहीं हुआ है बल्कि आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच एडिलेड में भी देखने को मिला है और वहां भी कई विकेट गिरे है.