babulalभोपाल,   कल ही मंत्रिपद से हटाये जाने से नाराज भाजपा के बुजुर्ग नेता बाबूलाल गौर ने आज अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि दिल्ली के नेताओं ने उनके सम्मान का कत्ल किया है. हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि वह भाजपा नहीं छोड़ेंगे.

इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शाम को गौर को चाय पर मुख्यमंत्री निवास भी बुलाया. गौर ने यहां मीडिया से चर्चा करते हुए तल्ख लहजे में यह प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि उनके सम्मान का कत्ल हुआ है. राजनीति अब व्यवसाय हो गई है. यह पूछने पर कि क्या वे विधायक पद से भी इस्तीफा देंगे, उन्होंने कहा कि वह इस पर विचार करेंगे.

गौर ने विधानसभा में भी मंत्रियों पर निशाना साधने का संकेत देते हुए कहा कि वह सदन में मंत्रियों से कामकाज पर सवाल पूछेंगे. उन्होंने ‘बड़ी देर भई नंदलाला, तेरी राह तके बृजबाला’ गीत गाकर अपनी स्थिति बयां की. इससे पहले भाजपा नेता उनकी नाराजगी को दूर करने के प्रयास में लगे रहे. आज सुबह प्रदेश के संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा उनसे मिलने उनके निवास पर पहुंचे. डॉ. मिश्रा ने उनसे काफी देर तक बातचीत की. इस दौरान गौर की बहू भोपाल की पूर्व महापौर कृष्णा गौर भी मौजूद थीं.

Related Posts: