delhiनई दिल्ली,  देश की राजधानी दिल्ली को यूं तो चमचमाती सड़कों, लुटियन्स जोन, मेट्रो और नामी कॉलेज-यूनिवर्सिटीज़ की वजह से जाना जाता है. लेकिन, इसी शहर में एक स्कूल ऐसा भी है जो विकास की पहचान दिल्ली मेट्रो के एक पुल के नीचे चलता है. यह स्कूल चमचमाते दिल्ली शहर की एक अलग ही तस्वीर सामने लाता है. दिल्ली सचिवालय से महज कुछ दूरी पर यमुना बैंक मेट्रो डिपो के पास मेट्रो पुल के नीचे चलने वाले इस स्कूल का नाम है फ्री स्कूल अंडर द ब्रिज.

यह आसपास के गरीब मजदूरों के बच्चों को जीने की नई उम्मीद देता है, वह भी मुफ्त में. इस स्कूल में आसपास की झुग्गी-झोपडयि़ों में और रेल की पटरी के किनारे रहने वाले गरीब मजदूरों के बच्चे पढ़ते हैं. ये मजदूर इस शहर में काम ढूंढऩे आते हैं और कुछ साल रहने के बाद किसी दूसरे शहर में बस जाते हैं. इन सबमें नुकसान होता है तो उनके बच्चों का, क्योंकि उनके पास न कोई स्थायी पहचान होती है और न ही इतनी हिम्मत कि वे किसी सरकारी स्कूल में जाकर प्रिंसिपल और अधिकारियों के सवालों का जवाब दे सकें. ऐसे बच्चों को यह स्कूल एक नई उम्मीद देता है.

 

Related Posts: