दीपक के सिर्फ पुुलिस से मिलने की बात नहीं उतर रही गले

भोपाल/रायसेन,

प्र्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामले में लोनिवि मंत्री रामपाल सिंह और उनके परिजनों को बचाने के लिए उदयपुरा पुुलिस सरकार के इशारों पर नाच रही है. यह बात इस मामले में अभी तक के पुुलिस के रवैये से साबित भी हो रही है.

प्र्रीति रघुवंशी के आत्महत्या मामले में 25 दिन बाद भी प्र्रकरण दर्ज नहीं होने से विपक्षी दल कांग्रेस और रघुवंशी समाज के आक्रोश का सामना कर रही पुुलिस अब मृतका प्र्रीति के भाई दीपक के गायब होने के मामले में घिरती नजर आ रही है. इससे मंत्री रामपाल सिंह की मुश्किलें भी एक बार फिर बढ़ती दिख रहीं हैं.

रामपाल सिंह की बहू स्व. प्र्रीति रघुवंशी के भाई दीपक के 7 अप्र्रैल से गायब होने के बाद इस मामले में उसके परिजनों द्वारा उदयपुरा थाने में शिकायत करने पर पुुलिस नित नई कहानी गढ़ रही है, जिससे यह मामला और संगीन हो गया है.

उधर इस मामले में उदयपुुरा टीआई और दीपक के भाई मंजीत के बीच दीपक की गुमशुदगी को लेकर हुई बातचीत का जो ऑडियो वायरल हुआ है उसमें दीपक के थाने पहुंचकर बयान दर्ज कराने संबंधी टीआई की बात किसी को हजम नहीं हो रही है.

ऑडियो में मंजीत द्वारा दीपक को परिजनों को सौंपे जाने की बात पर टीआई का यह कहना है कि दीपक परिजनों से मिलना नहीं चाहता है. इसको लेकर उसके पिता चंदन सिंह का कहना है कि यह सब पुलिस की मनगढंत कहानी है. उनके पुत्र दीपक के साथ अगर कोई अनहोनी होती है तो उसके जिम्मेदार मंत्री रामपाल सिंह और उदयपुुरा पुलिस ही होगी.

रघुवंशी समाज ने फिर खोला मोर्चा

प्र्रीति आत्महत्या मामले में लोनिवि मंत्री रामपाल सिंह और उनके परिजनों पर कार्यवाही की मांग पर अड़ी रघुवंशी समाज ने गुरूवार को फिर मोर्चा खोलते हुए रायसेन में शक्ति प्र्रदर्शन किया. इस मौके पर 200 से अधिक वाहनों के काफिले के साथ रघुवंशी समाज के प्र्रतिनिधि मंडल ने शहर में रैली निकालते हुए कार्यवाही की मांग को लेकर कलेक्टर भावना वालिम्बे को ज्ञापन सौंपा. इस दौरान रघवुंशी समाज ने मंत्री रामपाल सिंह के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

षडय़ंत्र की आ रही बू

दीपक के गायब होने से परेशान उसके परिजन जहां उससे मिलने को बेताब हैं वहीं उदयपुरा पुुलिस दीपक के थाने आकर बयान दर्ज कराने की बात कर रही है. यह बात दीपक के परिजनों को गले नहीं उतर रही है. मृतका प्र्रीति के पिता चंदन सिंह का तो साफ कहना है कि उदयपुुरा में होने के बाद भी दीपक पुुलिस से तो संपर्क कर रहा है, लेकिन अपने घर नहीं आ रहा है. पुलिस की इस बात का वह कैसे भरोसा कर लें. चंदन सिंह का कहना है कि दीपक के गायब होने में कोई सुनियोजित षडय़ंत्र की बू आ रही है.

अब भतीजे ने पैदा की आफत

  • भतीजे की तलाकशुदा महिला ने नेता प्रतिपक्ष को सुनाई व्यथा
  • रामपाल ने लगाया विपक्ष पर षडयंत्र रचने का आरोप

लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह अपने पुत्र के कारण पहले से ही परेशानियों से घिरे थे कि अब उनके भतीजे ने भी उनकी मुश्किलों में इजाफा कर दिया है. रामपाल सिंह की बहु होने का दावा करने वाली प्रीति रघुवंशी की आत्महत्या के बाद अब एक और महिला ने अपने आप को मंंत्री रामपाल सिंह से पीडि़त बताया है.

पीडि़त महिला के मुताबिक उसने और रामपाल सिंह की पत्नी के भतीजे ने 14 साल पहले भागकर शादी की और शादी के 2 साल बाद पति ने उसें तलाक दे दिया. दोनों की एक बेटी भी है. जिसके भरण पोषण के लिए उसने आवाज उठाई है.

इसके लिए वह नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के पास पहुंच गई है. नेता प्रतिप्रक्ष ने उसे उसका पूरा हक दिलवाने का आश्वासन दिया है. उधर रामपाल सिंह ने विपक्ष पर उन्हे बदनाम करने करने के लिए षडयंत्र रचने का आरोप लगाया है. रामपाल सिंह का कहना है कि महिला को अगर लगता है कि उसके साथ अन्याय हुआ है तो उसे पुलिस के पास जाना चाहिए या मेरे पास आना चाहिए.

Related Posts:

नाना के रूप में ब्याह में शामिल होंगे मुख्यमंत्री
दस हजार की रिश्वत लेते ननि का वार्ड प्रभारी पकड़ा गया
बसंत प्रताप सिंह होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्य सचिव
प्रदेश में होगा पहला अस्पताल : अब हमीदिया में होगा बोन मेरो ट्रांसप्लांट
ठंड से ठिठुरते लोगों को महापौर ने ओढ़ाये कम्बल
अपने साधनों से नौनिहाल पहुंचे परिजन संग स्कूल