MP-ASSEMBLYमलय श्रीवास्तव,
भोपाल, 4 जून. राज्य मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर भाजपा के सामने दुविधा है कि किसे मंत्रिमंडल में शामिल किया जाए और किसे हटाया जाये. अब यह संभावना बन रही है कि विधानसभा के मानसून सत्र तक शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार टल सकता है.

इन दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने मंत्रिमंडल के बहुप्रतीक्षित विस्तार के लिए पार्टी के वरिष्ठï नेताओं के साथ मंथन कर रहे हैं उन्हें मंत्रिमंडल में रिक्त 11 पदों में से आधा दर्जन पद भरने हैं लेकिन मंत्री पद पाने वालों की फेहरिस्त लम्बी है. वहीं कुछ मंत्रियों को हटाये जाने की भी अटकले हैं. भाजपा के सामने यह दुविधा है कि वह किसे हटाये और किसे मंत्री बनाये. प्रदेश के आधे से ज्यादा 30 जिले ऐसे हैं जहां से किसी को मंत्री नहीं बनाया गया है. मानवेन्द्र सिंह भाजपा में शामिल होने के बाद से मिले आश्वासन के कारण इस आशा में हैं कि उन पर शिवराज सिंह चौहान भरोसा जतायेंगे. चौधरी चन्द्रभान सिंह और मोती कश्यप की वरिष्ठïता उन्हें मंत्री कुर्सी तक ले जा सकती है.

Related Posts: