90 लाख हुए थे बरामद

देवास,

देवास में स्थित केंद्र सरकार के उपक्रम बैंक नोट प्रेस से नोट चोरी के आरोप में गिरफ्तार किए गए मुख्य पर्यवेक्षक मनोहर वर्मा की पुलिस रिमांड अवधि आज 24 जनवरी तक के लिए बढ़ा दी गयी.

आरोपी मनोहर वर्मा को पुलिस ने रिमांड अवधि समाप्त होने पर प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी कविता इवनाती के समक्ष पेश किया. पुलिस ने दो दिन का रिमांड और बढाने का अनुरोध किया, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया. बैंक नोट प्रेस के मुख्य पर्यवेक्षक मनोहर वर्मा को हाल ही में बैंक नोट प्रेस थाना पुलिस ने लगभग 90 लाख रुपए मूल्य के रिजेक्टेड नोट चुराने के मामले में गिरफ्तार किया था.

ये नोट आरोपी के कार्यालय और घर से मिले थे. उसे तत्काल गिरफ्तार कर अदालत में पेश करने पर आज तक के पुलिस रिमांड पर लिया गया था. छपायी के दौरान तकनीकी खामी के कारण जो नोट प्रचलन योग्य नहीं रहते हैं, उन्हें रिजेक्टेड नोट की श्रेणी में रखा जाता है.

इस बीच बैंक नोट प्रेस प्रबंधन वर्मा और कुछ अन्य कर्मचारियों को पहले ही निलंबित कर चुका है. इस मामले की प्रबंधन स्तर पर भी जांच की जा रही है. यहां स्थित बैंक नोट प्रेस में दो सौ और पांच सौ रुपए मूल्य के नोट की छपायी का कार्य किया जाता है.

Related Posts:

50 प्रश अनारक्षित पद सामान्य वर्ग के लिये आरक्षित
अल्लाह के संदेशों को जन-जन तक पहुंचाने सात हजार किमी की पैदल हज यात्रा
मध्यप्रदेश में बीएसएनएल की आमदनी में छह फीसदी की रिकार्ड बढोत्तरी
प्रदेश में आयुर्वेद की यूनिट लगाने की योजना
मध्यप्रदेश में प्रति व्यक्ति पर है औसतन 14 हजार रुपए कर्ज
जिनिंग में लाखों की नुकसानी का अनुमान