26as3भोपाल,26 अगस्त. वित्त एवं वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत मलैया ने आज यहाँ गैर-रजिस्ट्रीकरण दस्तावेजों के लिये सर्विस प्रोवाइडर्स द्वारा ई-स्टाम्प जनरेट करने की व्यवस्था का शुभारंभ किया. व्यवस्था में ऐसे दस्तावेजों से संबंधित ई-स्टाम्प अब सर्विस प्रोवाइडर द्वारा ही प्रिंट कर जारी किये जा सकेंगे, जिनका रजिस्ट्रीकरण नहीं किया जाता.

इस अवसर पर महानिरीक्षक पंजीयन दीपाली रस्तोगी भी उपस्थित थीं।
मलैया ने कहा कि कम्प्यूटरीकरण से विभाग की कार्य-प्रणाली और राजस्व संग्रह में अभूतपूर्व सुधार आया है. विभाग के तीनों अंग वाणिज्यिक कर, एक्साइज और पंजीयन का काम बहुत सुचारू हो गया है. उन्होंने कहा कि ई-पंजीयन और ई-स्टाम्पिंग करने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है.

Related Posts: