नयी दिल्ली,  निर्भया सामूहिक बलात्कार मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा दोषियो की फांसी की सजा बरकरार रखे जाने पर उसके माता- पिता ने इसे न्याय की जीत बताते हुए कहा है कि इससे न सिर्फ उनकी बेटी बल्कि पूरे देश को न्याय मिला है। उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के बाद निर्भया के मां आशा देवी ने कहा कि आज पूरे देश को इंसाफ मिला है और इससे भविष्य के लिए यह संदेश जाएगा कि कोई भी महिलाओं के साथ अन्याय करेगा तो ऐसी ही सजा मिलेगी।

दोषियों को फांसी पर लटकाये जाने तक वह अपनी लड़ाई जारी रखेंगी और आगे भी लड़कियों के इंसाफ के लिए काम करती रहेंगी। निर्भया के पिता बी एन सिंह ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है कि अदालत ने उनकी आवाज सुनी और उन्हें तथा हर बेटी को न्याय मिला है। इसमें कुछ देर जरूर लगी लेकिन उन्हें अब इसकी शिकायत नहीं है। वह चाहते हैं कि दोषियों को जल्द फांसी दे दी जाए। उच्चतम न्यायालय ने आज अपने फैसले में मामले के चारों दोषियों को फांसी की सजा बरकरार रखी है।

Related Posts: