gandhiji

मोहनदास करमचंद गांधी
ऐसा नाम।
जिसके अंदर निहित है
सत्य-अहिंसा-धाम।।
गांधीजी का लक्ष्य था
जन-जन का उत्थान।
छोटा हो अथवा बड़ा
सबका हो सम्मान।।
गांधीजी की नीति थी
सर्व धर्म समभाव।
जिसकी मूल विशेषता
मानवता का भाव।।
शास्त्रीजी का जीवन था
शुभ का पर्याय।
कर्मयोग के ग्रंथ में
जनहित का अध्याय।।
2 अक्टूबर इसीलिए
लगता मंगल पर्व।
सच में गांधी-शाी
देश के दोनों गर्व।।

– अजहर हाशमी

Related Posts:

आरबीआई नीति में बड़े बदलाव की उम्मीद नहीं
सहगल सहित ग्यारह लेखक सम्मान वापस लेने को तैयार
एयर हॉस्टेस की तर्ज पर ट्रेनों में होंगी ट्रेन हॉस्टेस
लोक शिकायत निवारण अधिनियम एक क्रांतिकारी कदम साबित होगा : नीतीश
हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिह हुड्डा के आवास पर सीबीआई छापा
शहाबुद्दीन के खिलाफ याचिका की सुनवाई बुधवार तक टली