16 Page 2 sehore 01रेहटी / सीहोर. 16 अगस्त नससे. रविवार को मुख्यमंत्री मां सुन्दर देवी कल्याण समिति के सौजन्य से बुधनी विधानसभा क्षेत्र के सभी शासकीय विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षा 6 वीं से 12 वीं तक के छात्र-छात्राओं को 5-5 कापी नि:शुल्क वितरण के शुभारंभ में सम्मिलित छात्र-छात्राओं एवं जनसमुदाय को संबोधित किया.

उन्होंने कहा कि माता-पिता का सम्मान करना चाहिए, हमने भगवान को तो नहीं देखा किन्तु मां भी भगवान से कम नहीं. उन्होंने सभी बच्चों से वचन लिया सभी पूरी ईमानदारी से पढ़ाई करेंगे. उन्होंने बच्चों से यह भी पूछा कि तुम में से कौन क्या बनना चाहता है. इस पर अधिकांश बच्चों ने पुलिस में भर्ती होने की बात कही. मुख्यमंत्री ने बताया कि उनकी स्वर्गवासी माता श्रीमती सुन्दरदेवी के नाम पर समाज कल्याणकारी कार्यों हेतु सुन्दर सेवा आश्रम विदिशा में संचालित है, उसी तारतम्य में मां सुन्दर देवी महिला कल्याण समिति का गठन किया है जिसकी कार्यकारी अध्यक्ष श्रीमती साधना सिंह चौहान है. उन्होंने कहा कि यह समिति शासकीय विद्यालयों में दी जा रही सुविधाओं के तरह सेवा प्रदान करेगी.

उन्होंने बच्चों से अपने बाल्यकाल की स्मृतियां साझा करते हुए उन्हें खूब जी लगाकर पढ़ाई करनेके लिए प्रोत्साहित किया. कार्यक्रम के अंत में मुख्यमंत्री मंच से उतरकर बच्चों से मिलने उनके बीच पहुंचे और उन्हें आश्वासन दिया कि तुम से मिलने दोबारा स्कूलों में भी आऊंगा. कार्यक्रम को मुख्यमंत्री के पुत्र कार्तिकेय चौहान ने भी संबोधित किया. कार्यक्रम के पश्चात मुख्यमंत्री सलकनपुर धाम भी पहुंचे जहां उन्होंने सपत्निक पूजा अर्चना कर प्रदेश वासियों के कल्याण एवं चहुंमुखी विकास की मंगल कामना की.

कार्यक्रम में जिले के प्रभारी मंत्री ठाकुर रामपाल सिंह, मार्कफेड के अध्यक्ष रमाकांत भार्गव, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला मरेठा, नगर परिषद रेहटी की अध्यक्ष श्रीमती सुनीता चौहान, रवि मालवीय सहित अन्य जनप्रतिनिधि, कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े, एसपी मनीष कपूरिया सहित अन्य शासकीय अधिकारी, कर्मचारी बड़ी संख्या में स्कूली छात्र-छात्राएं और स्थानीय जन उपस्थित थे.

Related Posts:

बारदानों की किल्लत सोची समझी रणनीति: भूरिया
बरसात के चलते ग्रामीण क्षेत्र के स्कूल प्रागंण में कीचड़ से छात्र छात्राऐं परेशा...
मैं साफ-सुथरा, शिवराज का शांताकुमार को पत्र
पेटलावद विस्फोट : कैंडल मार्च, चेहरों पर चस्पा है आक्रोश
हुगली नदी में प्रशिक्षित होमगार्ड ने क्षिप्रा नदी में दिया प्रशिक्षण
चिकित्सक की लापरवाही से दो नवजातोंकी मौत