mp2इंदौर,   रविवार को इंदौर में तीसरा बार ग्रीन कॉरिडोर बनाय गया. इस बार का मामला पिछली दो बार से कुछ अलग इसलिए रहा क्योंकि इस बार दिल को भी भेजा गया. अब इंदौर की बेटी का दिल अब मुंबई में किसी की धड़कन बनेगा तो उसका लिवर दिल्ली में किसी अन्य की जान बचाएगा.

इंदौर के साथ ही मुंबई और दिल्ली यानि तीन शहरों में पहली मर्तबा ग्रीन कॉरिडोर का निर्माण किया गया. सोनिया चौहान का दिल मुंबई और लिवर दिल्ली भेजा गया. दिल को मुंबई के फोर्टिस अस्पताल और लिवर दिल्ली इंस्टीट्यट भेजा गया. प्रदेश में यह पहली बार हुआ कि दिल साढ़े पांच सौ किमी की दूरी तय कर मुंबई पहुंचा और लिवर साढ़े नौ सौ किमी दूर दिल्ली पहुंचा. उसकी त्वचा इंदौर में ही किसी को नई जिंदगी देगी. जल्द ही उसकी आंखें भी किसी की अंधेरी दुनिया को रोशन करेंगी, यानी इस बार इंदौर की बेटी के अंग कई जिंदगी बचाने के काम आएंगे.

Related Posts: