गैंगरेप मामला: चारों आरोपी 2 दिन की पुलिस रिमांड पर

  • घटना में प्रयुक्त बुलेट पुलिस करेगी बरामद

भोपाल,

बैंक परीक्षा की तैयारी कर रही छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने दो दिन की रिमांड पर लिया है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ करने में जुटी है, इसके साथ ही पुलिस उनसे घटना में प्रयुक्त बाइक भी बरामद करेगी.

सोमवार को पुलिस ने चारों आरोपियों का मेडिकल भी कराया. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि 15 दिन में चालान पेश कर दिया जाएगा. एमपी नगर में छात्रा का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म करने वाले आरोपियों ने पुलिस को पूछताछ में चौंकाने वाली बातें बताई हैं.

आरोपियों ने स्वीकारा है कि वे पिछले दो माह से छात्रा का अपहरण कर गैंगरेप करने की प्लानिंग बनाए हुए थे. पुलिस को मुख्य आरोपी शैलेंद्र ने बताया कि दोस्ती टूटने के बाद से वह बदला लेने की फिराक में था, लेकिन छात्रा उससे बात नहीं कर रही थी. साथ ही आरोपी उसका लंबे समय से पीछा भी कर रहा था. पुलिस को यह भी सामने आया है कि शैलेंद्र ने अपहरण करने से पहले अपने दोस्त को सूचना दी थी.

सांसद कमलनाथ ने साधा निशाना

घटना को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री व सासंद ने कहा है कि मुख्यमंत्री के निर्देश की सात दिन की सीमा समाप्त हो गई, लेकिन इसके बाद भी बहन-बेटियों पर हो रहे अपराधों पर अंकुश नहीं लग सका है. भोपाल में एक बार फिर दरिंदगी की घटना हुई. प्रदेश की जनता मुख्यमंत्री से चेतावनी छोड़ एक्शन मोड़ में आने का इंतजार कर रही है.

बंधक बनाकर महिला से छेडख़ानी

बिलखिरिया थाना क्षेत्र में रविवार को कमरे में बंधक बनाकर महिला से छेड़छाड़ की घटना को अंजाम देने वाले के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया है. घटना 15 दिन पुरानी बताई जा रही है, पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक ग्राम छावनी पठार निवासी 33 वर्षीय महिला ने पुलिस को बताया की 10 मार्च को 11 बजे वह अपने घर पर थी.

वहीं उसका बेटा दुकान पर गया था. इसी बीच चरण सिंह मेहर उर्फ छोटू उसके घर आ धमका और दरवाजा लगा कर अश्लील हरकतें करने लगा. जब महिला का बेटा आ गया तो आरोपी धमकी देकर फरार हो गया. पुलिस ने आरोपी चरण सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

कॉल डिटेल खंगाल रही पुलिस

पुलिस इस मामले में चारों आरोपियों के पास से बरामद मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाल रही है. पुलिस अधिकारी इस बात को लेकर अभी तक संशय में हैं कि कहीं घटना का वीडियो तो आरोपियों ने नहीं बनाया.

Related Posts: