20pic1चंडीगढ़,  रोहतक समेत हरियाणा के कई हिस्सों में आरक्षण के लिए चल रहे जाट आंदोलन ने हिंसक रूप ले लिया है. हरियाणा के 9 शहरों में सेना बुलानी पड़ी है. उधर, जाट प्रदर्शनकारियों का कहना है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने माहौल को बिगाड़ दिया है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रदर्शनकारी हिंसा और तमाम चीजों के लिए अज्ञात असामाजिक तत्वों को दोषी ठहरा रहे हैं. उधर हिंसा को देखते हुए रोहतक और भिवानी में कफ्र्यू लगा दिया गया है. फिलहाल हरियाणा में हालात काबू में लाने के लिए रोहतक, सोनीपत, झज्जर, भिवानी, हिसार, कैथल, जींद, करनाल और पानीपत में सेना बुलाई गई है.

सुरक्षाबलों ने हिंसक हो चुकी भीड़ पर नियंत्रण के लिए फायरिंग भी की. इस गोलीबारी में एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हुए हैं. प्रदर्शनकारियों ने रोहतक के आईजीपी दफ्तर पर भी हमला कर दिया. भीड़ ने झज्जर में पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया.

Related Posts: