नई दिल्ली. कैबिनेट ने आज धान का एमएसपी यानि न्यूनतम समर्थन मूल्य 50 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाने को मंजूरी दे दी है. साथ ही दालों पर भी 200 रुपए क्विंटल का बोनस देने का एलान किया है. खेती पर फोकस बढ़ाते हुए सरकार ने देश भर में कृषि विज्ञान केंद्रों की संख्या बढ़ाने का भी फैसला किया है. इसके अलावा उत्तराखंड, झारखंड और छत्तीसगढ़ को नेशनल डेयरी प्लान में शामिल करने को भी कैबिनेट ने मंजूरी दी है.

साथ ही गरीबों के लिए सस्ते घरों की स्कीम और सोलर पावर क्षमता बढ़ाने जैसे कदमों को भी कैबिनेट ने मंजूरी दी है.

वहीं सरकार ने हाउसिंग फॉर ऑल की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाते हुए गरीबों के लिए होम लोन इंटरेस्ट सबवेंशन की दर बढ़ाकर 6.5 फीसदी कर दी है जिससे अब प्रभावी ब्याज दर 4 फीसदी रहेगी.

इसके अलावा सरकार ने सोलर पावर क्षमता 5 गुना बढ़ाने को मंजूरी दी है. सरकार की 2020 तक सोलर पावर सेक्टर में 6 लाख करोड़ रुपये निवेश करने की योजना है.

सरकार ने धान का एमएसपी 1360 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 1410 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया है. साथ ही सरकार ने बीआईएस नियमों में बदलाव को भी मंजूरी दी है. खरीफ फसलों के एमएसपी में बढ़ोतरी 1 अक्टूबर 2015 से लागू होगी. सरकार ने उड़द का एमएसपी 275 रुपए से बढ़ाकर 4625 रुपये कर दिया है. मूंग का एमएसपी 250 रुपए से बढ़ाकर 4850 रुपए कर दिया गया है.
तुवर का एमएसपी 275 रुपए से बढ़ाकर 4625 रुपए कर दिया गया है. रागी का एमएसपी 100 रुपए से बढ़ाकर 1650 रुपए कर दिया गया है. मक्के का एमएसपी 15 रुपए बढ़ाकर 1325 रुपए कर दिया गया है.

Related Posts: