spo3हरारे,  युवा लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल(25 रन पर तीन विकेट) के दमदार प्रदर्शन और शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के बेहतर योगदान से भारत ने जिम्बाब्वे को दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में सोमवार को आठ विकेट से पीटकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अपराजेय बढ़त बना ली.

भारत के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी युवा ब्रिगेड के दम पर 20 महीने के लंबे अंतराल के बाद अपनी कप्तानी में वनडे सीरीज जीती है. धोनी की कप्तानी में भारत ने आखिरी बार अक्टूबर 2014 में घरेलू जमीन पर वेस्टइंडीज से एकदिवसीय सीरीज जीती थी. टीम इंडिया के युवा गेंदबाजों ने जिम्बाब्वे को एक समय तीन विकेट पर 106 रन की शानदार स्थिति को 34.3 ओवर में 126 रन पर लुढ़का दिया. भारत को इस आसान स्कोर का पीछा करने में कोई परेशानी नहीं हुई. भारत नेे 26.5 ओवर में दो विकेट पर 129 रन बनाकर एकतरफा जीत हासिल कर ली. भारत ने पहला वनडे नौ विकेट से जीता था. पिछले मैच के शतकधारी लोकेश राहुल 50 गेंदों में चार चौकों की मदद से 33 रन बनाकर आउट हुये. राहुल ने इस तरह वनडे में पहली बार आउट होने से पहले सर्वाधिक रन बनाने का रिकार्ड बना दिया. राहुल ने वनडे में पहली बार आउट होने से पहले 133 रन बनाये जबकि इससे पहले यह रिकार्ड डब्ल्यू रमन के नाम 103 रन का था. राहुल ने पिछले मैच में नाबाद 100 रन बनाये थे और पदार्पण वनडे में वह शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे.

राहुल और करूण नायर (39) ने पहले विकेट के लिये 14.4 ओवर में 58 रन की साझेदारी की. राहुल के आउट होने के बाद नायर और अंबाटी रायुडू ने दूसरे विकेट के लिये 12 ओवर में 67 रन जोड़कर भारत को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया. भारत का स्कोर जब 125 था तो नायर को सिकंदर रजा ने पगबाधा कर दिया. नायर ने 68 गेंदों पर 39 रन की पारी में पांच चौके लगाये.
रायुडू ने मनीष पांडे के साथ भारत को जीत की मंजिल पर पहुंचा दिया.
पांडे ने रजा के इसी ओवर की आखिरी गेंद पर विजयी चौका मारा. रायुडू ने 44 गेंदों पर नाबाद 41 रन की पारी में सात चौके लगाये. पांडे चार रन पर नाबाद रहे. भारतीय युवा खिलाडिय़ों ने इस तरह लगातार दूसरे मैच में शानदार प्रदर्शन किया.

 

Related Posts: