pic3नयी दिल्ली,  जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय और जर्मनी के जर्मन इंटरनेशनल कोआपरेशन (जीआईजेड) के बीच गंगा को स्वच्छ बनाकर इसके संरक्षण के लिए आज यहां ‘नमामि गंगे’ कार्यक्रम के तहत एक समझौते पर हस्‍ताक्षर किए गए।

समझौते के तहत गंगा संरक्षण के लिए नदी बेसिन प्रबंधन पर जाेर दिया जाएगा और बेसिन प्रबंधन को डाटा प्रणाली तथा जन भागीदारी पर आधारित बनाया जाएगा।

इसके लिए द्विपक्षीय परियोजनाएं बनायी जाएगी और इन पर वर्ष 2018 तक काम किया जाएगा।

Related Posts: