एक साथ उठीं दो अर्थियां

नवभारत न्यूज भोपाल,

किसी को क्या मालूम था कि गत दिवस रात तक जो युवक हंसी-ठिठौली कर रहे थे, सुबह होते ही उनकी मौत की खबर आ जायेगी. सीहोर के समीप सड़क हादसे में हर्ष व यश की जान गई तो जैसे आसमान गिर गया.

दोपहर बाद सैकड़ों नम आंखों के बीच कोलार विश्राम घाट में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया. हर्ष, यश, कुणाल, कुशाग्र व कार्तिक सभी कोलार निवासी हैं. रात में ही कार्यक्रम बन गया था कि सुबह का नाश्ता सभी डोडी में करेंगे. अल सुबह 6 बजे सभी अपनी लक्जरी कार एमपी-04-4596 से निकल पड़े.

करीब 160 कि.मी. की स्पीड से जा रही कार सीहोर के निकट पलट गई, जिसमें हर्ष, यश व कुणाल की मौत मौके पर ही हो गई.शेष दो को गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया.

जब यह समाचार कोलार पहुंचा तो हाहाकार मच गया. सर्वधर्म कॉलोनी निवासी हर्ष व यश के परिवार को सभी लोग जानते हैं. देखते ही देखते लोग उनके निवास पर पहुंच गये.

दोपहर बाद उनके शव भी वहां पहुंच गये. रोते-बिलखते परिजनों को जो भी सांत्वना देने पहुंचा, वह भी बिलखने लगा. बहरहाल लोगों ने नम आंखों से विदाई दी. उनके शोक में सर्वधर्म का बाजार भी बंद रहा.

Related Posts: