pic1नयी दिल्ली,  सरकार ने अख़बारों और पत्रिकाओं को विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय (डीएवीपी) के विज्ञापन पाने के लिए नयी प्रिंट मीडिया विज्ञापन नीति बनाई है जिसमें समाचार एजेंसियों की सेवा लेने वाले अखबारों को वरीयता दी गयी है।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने आज इस नयी नीति की रूप रेखा तैयार करते हुए इसमें पहली बार नई मार्केटिंग प्रणाली बनाई है जिसके तहत उन अख़बारों को तरजीह दी जायेगी जो नए मानदंडों पर खरे उतरेंगे। इसके तहत प्रत्येक मानदंड के लिए अंक निर्धारित किया गया है।

मंत्रालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार एबीसी या आरएनआई द्वारा अख़बारों की संख्या प्रमाणित होने पर 25 अंक, कमर्चारी भविष्य निधि के लिए 20 अंक, यूएनआई, पीटीआई और हिंदुस्तान समाचार की सेवा लेने पर 15 अंक, अपना प्रेस होने पर 10 अंक तथा प्रेस काउंसिल की सदस्यता लेने पर 10 अंक दिए जायेंगे। इन अंकों के आधार पर ही विज्ञापन दिए जायेंगे।

Related Posts: