गर्मी के बावजूद सुबह से देर रात तक भक्तों की लगी रही कतारें, बने जाम के हालात

  • प्रशासन एवं मंदिर ट्रस्ट ने जुटाई व्यवस्थाएं

रेहटी,नवभारत न्यूज,

सिर पर चिलचिलाती तीखी धूप भी देवी भक्तों की आस्था को डिगा नहीं पा रही थी. चैत्र नवरात्रि पर्व के पहले दिन रविवार को 50 हजार से अधिक भक्तों ने सलकनपुर धाम में विजयासन देवी के दर्शनों का लाभ लिया.

चैत्र नवरात्र के पहले दिन रविवार को मां विजयासन धाम शक्तिपीठ सलकनपुर में करीब 50 हजार माता के भक्तों ने पहुंचकर मां विजयासन के दर्शन किए. चैत्र नवरात्र में श्रद्धालुओं की संख्या गर्मी के कारण कम हो जाती है, जबकि शारदीय नवरात्र में नवरात्र के पहले दिन एक लाख से अधिक श्रद्धालु दर्शन करते हैं.

नवरात्र के पहले दिन रविवार को छुट्टी होने के कारण अधिक लोग माता के दरबार पहुंचे. नवरात्र के पहले दिन सीड़ी मार्ग, रोप-वे मार्ग और वाहन पहुंच मार्ग से मंदिर तक लोग पहुंच रहे थे. ट्रस्ट समिति ने नवरात्र में आने वाले माता के भक्तों के लिए शीतल पेयजल और साफ-सफाई की व्यवस्था की है.

पहले दिन तीनों मार्गों से जाने वाले श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जमा थी. जहां रोप-वे पर अधिक भीड़ होने के कारण एक-एक घंटे मंदिर तक पहुंचने के लिए श्रद्धालुओं को इंतजार करना पड़ रहा था.

आस्था का केन्द्र प्राचीन केन्द्र श्री देवीधाम शक्तिपीठ सलकनपुर में नवरात्रि पर प्रतिदिन बड़ी संख्या में श्रद्वालु भक्तों का तांता लगा रहेगा. यहां लाखों श्रद्वालु देवी दरबार में मत्था टेकने पहुंचेंगे. इधर नवरात्रि के एक दिन पहले शनिश्चरी अमावस्या पर मां विजयासन के दरबार में माता के भक्तों का जन सैलाब उमड़ता रहा.

सलकनपुर धाम के वाहन, सीढ़ी और रोप-वे मार्ग पर भारी भीड़ जमा थी. वहीं मेला ग्राउंड वाहनों से खचाखच भरा हुआ था. चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात थी. भक्तों की भीड़ के चलते दिन भर जाम के हालात निर्मित होते रहे.

कुछ वाहनों को तो बायपास निकालकर बाहर भेजा जा रहा था. गर्मी के दिन होने के कारण श्रद्धालु रोप-वे और वाहनों से अधिक संख्या में जाते देखे गए. जबकि सुबह और शाम को सीढ़ी मार्ग पर श्रद्धालुओं की संख्या अधिक देखने को मिली. ज्ञात रहे कि सलकनपुर देवीधाम दर्शन के लिए पहुंचने वाले भक्तों की सुविधा के लिए दोहरा सीढ़ी मार्ग, रोप-वे और चार किमी का सीसी सडक़ मार्ग बना हुआ है.

तीनों मार्ग से दर्शनार्थी माता रानी के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. मंदिर ट्रस्ट द्वारा माता रानी के परिक्रमा पथ पर नेट बिछवाया गया है. तेज गर्मी को देखते हुए यह व्यवस्था की गई है. इससे तेज गर्मी के कारण श्रद्धालुओं को परिक्रमा करने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. इसके अलावा पेयजल के लिए ठंडा पानी के स्टॉल लगाए गए हैं. भक्तों को सीढ़ी चढ़ते समय कुछ राहत के लिए छायादार टेंट भी लगवाए गए हैं.

Related Posts: