मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के तहत मिला अनुदान

भोपाल,

आज नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री पारस जैन द्वारा ग्राम-बड़झिरी, विकासखण्ड-फंदा, में कृषक अवधनारायण के खेत में योजना के तहत् स्थापित किए गए सोलर पम्प का शुभारंभ किया गया हैं.
उक्त कृषक के यहां 5 हॉस पॉवर का एसी सबमर्सिबल सोलर पंप स्थापित किया गया.

इस हेतु कृषक को मात्र 72,100/- मात्र का अंश वहन करना पडा़ हैं. उक्त सोलर पंप की लागत लगभग 4,35,973/- हैं. कृषक ने अपने सब्जी फार्म में इस पम्प को स्थापित किया है.

इस कार्यक्रम के दौरान मंत्री ने बताया कि ”मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना”  का क्रियान्वयन मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड द्वारा प्रदेश स्तर किया जा रहा है. इस योजना के तहत् प्रदेश के कृषकों को 3 एचपी तक के पम्प पर कुल 90 फीसद अनुदान (केन्द्र सरकार – राज्य शासन) पर एवं 5 एचपी क्षमता के पम्प पर 85: अनुदान दिया जा रहा है.

मध्यप्रदेश शासन के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव, मनु श्रीवास्तव ने योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुये बताया कि, मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम ने विश्व में ”सोलर पम्पों की सबसे बड़ी योजना”  हेतु खुली निविदा के माध्यम से दरें आंमत्रित की थी, जिसमें प्रतिस्पर्धात्मक दरें प्राप्त हुईं, जो कि भारत सरकार की बेंच मार्क दरों से कम हैं.

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को पारम्परिक ऊर्जा के अंतर्गत दी जाने वाली विद्युत के अंतर्गत प्रतिवर्ष अनुदान दिया जाता है जबकि इस योजना के अंतर्गत एकमुश्त अनुदान दिया जाना सरकार एवं किसानों दोनो के लिए लाभकारी है.

योजना का उद्देश्य न केवल अक्षय ऊर्जा के दोहन को प्रोत्साहित करना है, बल्कि किसानों को सिंचाई के लिए आत्मनिर्भर बनाना भी है. इस योजना के तहत् जिन कृषकों के यहाँ सोलर पम्प स्थापित हो चुके हैं, उनका अनुभव सुखद है एवं इस प्रयास से खेती में स्वाबलंबन बढ़ेगा.

निगम द्वारा प्रदाय किए जाने वाले सोलर पम्पों के पाँच वर्षीय तकनीकी रख-रखाव की जिम्मेदारी भी प्रदायकर्ता इकाई को सौंपी गई है. उन्नत रूप से विकसित रिमोट मॉनीटरिंग सिस्टम से संयंत्र का परफारमेंस जाँचा जावेगा.

 

Related Posts: